• 12/14/2018

मुख्य खबर

Share this news on

डॉग बाइट सीरम ना मिलने व डॉक्टर की बत्तमीजी पर लोगों ने किया हंगामा

Image

Apurv

/

11/18/2018 12:38:10 AM

चंडीगढ़, 17 नवंबर। सेक्टर 19 स्थित डिस्पेंसरी में डॉग सीरम ना मिलने व डॉक्टर की मरीज के परिजन के साथ बदसलूकी करने पर कुछ लोगों ने डिस्पेंसरी में जमकर हंगामा किया। जानकारी अनुसार शनिवार को सेक्टर 30 से एक लड़की को कुत्ते ने काट लिया जोकि इलाज कराने सेक्टर 19 की डिस्पेंसरी पहुंची। वहाँ पहुंचते ही वहां की एसएमओ डॉ निशा साही ने सभी मरीजों को बाहर से सीरम लाने को कहा तो कांग्रेस की सोशल मीडिया के अध्यक्ष यादविंदर मेहता ने पूछा कि डिस्पेंसरी में तो फ्री लगता है तो उन्होंने कहा कि पिछले 2 महीने से सीरम का स्टॉक खत्म है ओर सभी बाहर से ला रहे है। आपको भी लाना होगा। कांग्रेस की सोशल मीडिया के अध्यक्ष यादविंदर मेहता आरोप लगाते हुए कहां कि हमने जब डॉ निशा साही से कहा कि जिस लड़की को कुत्ते ने काटा है उसका पीजीआई में लिवर का इलाज चल रहा है तो कोई इसका साइड इफेक्ट या उसपर कोई बूरा असर तो नहीं होने की बात पूछने गए तो उन्होंने ने कहा कि आप जो दवाई खा रहे इसमें कोई बात नही। ये ही सीरम लगेगा परन्तु थोड़ी बाद डॉ ने कहा कि नही इनके लिए अलग सीरम आएगा। जिसकी कीमत 6 हजार है या 20 हजार वो ले आओ। इस पर पूछा गया कि क्या ये एक बार लगेगा और क्या ये सीरम है या इंजेक्शन है ओर इसमें ही कई डोज होंगी। इतना कहने पर डॉ निशा गुस्से में आ गई और भड़कने लगी कि आप इतना क्यों पूछ रहे हो और जिस लिए पूछ रहे हो में समझ रही हुई और ज्यादा इंक्वायरी ना करो समझे, मेरे रूम से बाहर जाओ मेरे पास समय नही फालतू बात के लिए नहीं है। इस पर मेहता ने कहा कि आप इस तरह मरीज ओर उनके परिजनों से बात नही कर सकते। पूछना तो हमारा हक है नही तो हम 16 या पीजीआई में इलाज करवा लेंगे। इतने पर हमें गेट आउट कह दिया और कहा कि अभी पुलिस को बुलाकर आपकी कम्प्लेंट करती हूँ। मेहता ने बताया कि डॉ. के इस बरताव के बाद हमने वरिष्ठ वकील व कांग्रेसी नेता दीपा दुबे व लीडर ऑफ ओपोजिशन दविंदर सिंह बबला को बुलाया और डॉ निशा साही का रवैया दीपा दुबे पर भी आक्रामक था। जब पार्षद दविंदर बबला ने पूछा कि आप खुद मरीजों को डॉग बाईट का सीरम क्यों नही लगा रहे तो डॉ ने कहा उनके पास पिछले 2 महीने से स्टॉक नही है और इसकी जानकारी मेयर देवेश मौदगिल व नगर निगम कमिश्नर को भी है इस पर दविंदर सिंह बबला ने हमे आश्वासन देते हुए कहा कि ये एक बहुत गंभीर मसला है इसको 27 तारीख को होने वाली हाउस की मीटिंग में कांग्रेस की ओर से पूरे जोरशोर से उठाया जाएगा। समय रहते वहां एमओएच भी आ गए मसले को समझते हुए हंगामे को काबू करने की कोशिश की ओर समय रहते डॉ निशा साही ने अपनी गलती मानते हुए कहा कि में अपने इस तरह के रवैये पर क्षमा मांगती हूँ और अपने उच्च अधिकारियों के निर्देश अनुसार मरीज के जो 4200 रुपये दवाई पर खर्च हुए है उन्हें वापिस देने की बात कही और बार बार देने की कोशिश की जिस पर हमने कहा कि हमारा मुद्दा डॉ के मरीज व परिजनों के साथ बदसलूकी व जब मरीज का इलाज फ्री है तो दवाइया बाहर से क्यों मंगवाई जा रही है इस पर मरीज व उसके परिजनों ने पैसे लेने से इनकार कर दिया ओर कहा कि पिछले 2 महीने से जिन मरीजों से अपने बाहर से दवाई मंगवाइ है उनके भी वापिस कर दो हम भी ले लेंगे और देखने वाली बात थी वहाँ हंगामे को बढ़ता देख सीरम का स्टॉक भी आननफानन में मंगवा लिए गया ओर परिजनों ने डॉ निशा साही के आक्रामक रवैये की उच्च अधिकारियों से कम्पलेंट करने की बात कही तांकि इस तरह की घटना किसी ओर के साथ दोबार ना हो। वहां मौजूद अन्य कांग्रेस के नेताओं में जिला अध्यक्ष अजय जोशी, हरजिंदर बावा, जी एस अहलूवालिया, दविंदर मारवाह, भुवन लूथरा, रवि ठाकुर, विनोद कुमार, साहिल दुबे, अभे चंदेल, दीपक गर्ग आदि थे। यह जानकारी जारी एक विज्ञप्ति में दी गई।