• 12/14/2018

मुख्य खबर

Share this news on

पासिंग आउट परेड, कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा ने परेड की ली सलामी

Image

Varsha

/

12/5/2018 10:15:56 PM

चंडीगढ़/होशियारपुर, 05 दिसंबर। पंजाब होम गार्डस वालंटियर्ज के लिए बुधवार का दिन बहुत ही ऐतिहासिक दिन है क्योंकि इससे पहले 1975 में ही अनुकंपा के आधार पर पंजाब होम गार्डस वालंटियर्ज की पासिंग आउट परेड हुई थी और आज 43 वर्ष बाद फिर यह गौरव का दिन आया है। यह विचार उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री पंजाब सुंदर शाम अरोड़ा ने आज पी.आर.टी.सी जहानखेलां में  पंजाब होम गार्डस ड्रिल व वैपन हैंडलिंग कोर्स के वालंटियर्ज की पासिंग आउट परेड को संबोधित करते हुए रखे। इस मौके उन्होंने परेड का निरीक्षण व प्रभावशाली मार्च पास्ट से सलामी भी ली। इस दौरान उनके साथ ए.डी.जी.पी. पंजाब होम गार्डस एवं व सिविल डिफैंस पंजाब श्री बलवीर कुमार बावा, आई.जी.पी-कम-डायरेक्टर पी.ए.पी. फिल्लौर यूरिंदर सिंह हेयर, कमाडेंट जनरल पंजाब होम गार्डस श्री कुलतारन सिंह घुम्मन, डी.आई.जी. होम गार्डस हरमनजीत सिंह व एसएसपी जे. इलेनचेलियन भी उपस्थित थे। इस मार्च पास्ट में 579 पुरु ष वालंटियर्ज व 45 महिला वालंटियर्ज शामिल थे जिनको अनुकंपा के आधार पर पंजाब होम गार्डस में शामिल किया गया है।  कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा ने संबोधित करते हुए पास आउट हो कर जा रहे वालंटियर्ज को जन सेवा के संकल्प याद करवाया व इसके आदर्श का हमेशा पालन करने को कहा। उन्होंने समूह वालंटियर्ज को हर तरह की चुनौती जैसे कि आतंकवाद, ड्रग, माफिया, स्नैचिंग व आम जुर्म आदि का सामना करने के लिए प्रेरणा दी। मुख्य मेहमान ने वालंटियर्ज व उनके अभिभावकों को मुबारकबाद दी व उम्मीद प्रकट की कि पी.आर.टी.सी. जहानखेलां से बुनियादी ट्रेनिंग प्राप्त करके यह वालंटियर्ज फील्ड में पूरी मेहनत के साथ ड्यूटी करेंगे। अरोड़ा ने पंजाब सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा कि सरकार के प्रयासों से अब  होम गार्डस को भी काफी सुविधाएं प्रदान की जा रही है। ड्यूटी के दौरान अगर किसी जवान की मौत हो जाती है तो उसे 30 लाख रु पये व  प्राकृतिक मौत के दौरान ढाई लाख रुपये की सहायता प्रदान की जा रही है। इस दौरान उन्होंने होमगार्डज परिवारों के मेधावी बच्चों को एच.डी.एफ.सी. बैंक की ओर से स्कालरशिप व उन जरु रतमंद परिवारों को 68 लाख रु पये की वित्तिय सहायता भी दी, जिनके परिजन नौकरी दौरान गुजर चुके थे। इस मौके पर मुख्य मेहमान ने पी.आर.टी.सी. जहानखेलां के फैमिली वेलफेयर के अपने फंड में से 5 लाख रु पये की राशी देने की घोषणा की। ए.डी.जी.पी. पंजाब होम गार्डस एवं व सिविल डिफैंस पंजाब बलवीर कुमार बावा ने बताया कि होम गार्डस ने जब-जब देश व प्रदेश में संकट आया है तब-तब मुस्तैदी व ईमानदारी से डयूटी निभाई है, चाहे वह चीन व पाकिस्तान के साथ युद्ध के समय की बात हो या फिर आतंकवाद के दौरान का समय हो। उन्होंने बताया कि इस समय पंजाब में 12811 होम गार्डस अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इस दौरान पी.आर.टी.सी. जहानखेलां के कमांडेंट भूपिंदर सिंह ने कारगुजारी रिपोर्ट पेश की और प्रशिक्षण दौरान इन वालंटियर्ज को दिए गए पेशेवर प्रशिक्षण के हुनरों, ड्रिल व वैपन हैंडलिंग की तमाम शिक्षा प्रणालियों का विवरण दिया व विश्वास प्रकट किया कि पासिंग आउट हो कर जा रहे सभी वालंटियर्ज अपनी जिम्मेदारियों को पूरी दृढ़ता व कामयाबी से निभाएंगे। वालंटियर्ज की ओर से इस अवसर पर अलग-अलग पेशेवर व सांस्कृतिक गतिविधियां, जिनमेें बिना हथियारों के लड़ाई, सामूहिक शारीरिक कसरते, मलखंभ, मोटर साइकिल शो, डैमो, वैपन हैंडलिंग, डैमो एंटीसाबोटेज चैकिंग, डैमो असैस कंट्रोल, मलवई गिद्दा व भंगड़ा आदि का प्रदर्शन किया। इस मौके पर अच्छी कारगुजारी वाले केंद्र के अधिकारियों, कर्मचारियों व पुरु स्कार विजेताओं को मुख्य मेहमान ने विशेष तौर पर सम्मानित किया। इस अवसर पर ए.डी.सी. अनुपम कलेर के अलावा केंद्र की डी.एस.पी. गुरजीत पाल सिंह, हरजीत सिंह, मलकीयत सिंह, डिप्टी डी.ए कवंलप्रीत सिंह, एच.डी.एफ.सी. बैंक की ओर से बी.बी.एच. विनित अरोड़ा, जोनल हैड जितेंद्र गुप्ता के अलावा अन्य गणमान्य भी उपस्थित थे।