• 6/25/2019

मुख्य खबर

Share this news on

281 निरंकारी श्रद्धालुओं ने स्वेच्छा से किया रक्तदान

Image

Surinder

/

1/6/2019 11:08:13 PM

चंडीगढ़, 6 जनवरी । सत्गुरू माता सुदीक्षा महाराज के निर्देशो पर सन्त निरंकारी चैरिटेबल फांऊडेशन द्वारा रविवार 6 जनवरी को सेक्टर-40 में विशाल रक्त दान शिविर सन्त निरंकारी सत्संग भवन सेक्टर 15 डी की तरफ से लगाया गया। इस कैम्प में 281 श्रद्धालुओं ने स्वेच्छा से रक्त दान किया। जिसमें 70 महिलाऐ भी शामिल हैं। इस रक्त दान शिविर का उद्घाटन डाॅ जी0 के0 दीवान जी निर्देशक स्वास्थ व परिवार कल्याण विभाग चंडीगढ़ प्रशासन अपने कर कमलों द्वारा किया। उदघाटन के दौरान उन्होंने रक्तदाताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि रक्त दान करना बहुत ही महान कार्य है ऐसा करने से समाज व देश में एकता स्थापित होती है। उन्होंने इस पवित्र कार्य के लिए मिशन को बधाई दी और प्रशासन की तरफ से धन्यवाद भी किया। इस मौके पर विशेष रूप से पहुंचे सी.एल गुलाटी सेक्रेटरी सन्त निरंकारी मंडल व सन्त निरंकारी चेरिटेबल फाउंडेशन दिल्ली ने कहा कि निरंकारी मिशन द्वारा रक्त दान शिविरों की शुरूआत वर्ष 1986 में निरंकारी बाबा हरदेव सिंह महाराज द्वारा स्वंय रक्तदान करके की गई और बाबा ने मानवता के प्रति सन्देश देते हुए कहा कि ‘‘खून नालियों में नहीं नाड़ियों में बहना चाहिए।’’ आज सत्गुरू माता सुदीक्षा महाराज इस सन्देश की पालना करते हुए निरंकारी मिशन रक्त दान के शिविर लगाते आ रहे हैं और 1986 से आज तक 6000 कैम्पों में 10 लाख से अधिक युनिट रक्त दान किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि संत निरंकारी चेरिटेबल फांउडेशन रक्त दान के अतिरिक्त रेलवे स्टेशनों की सफाई अभियान, पौधारोपण अभियान, निशुल्क सिलाई कढाई केन्द्र, चैरिटेबल डिसपैंसरी, प्राकृतिक आपदाओं के समय निरंकारी मिशन सेवा में योगदान देता रहता है। इस अवसर पर संत निरंकारी मंडल के ब्रांच प्रशासन के कोरडिनेटर (कर्नल रिटायर) सी0 एस0 तूर भी उपस्थित थे। चंडीगढ़ जोन के जोनल इंचार्ज के0 के0 कश्यप जी ने बताया कि यह चंडीगढ़ जोन का इस वर्ष का 16वां खुनदान कैम्प है। अब तक हुए 15 कैम्पों में 5052 युनिट खुनदान हो चुका है। कश्यप ने आगे कहा कि सन्त निरंकारी मिशन एक अध्यात्मिक मिशन है जो इन्सान की आत्मा को परमात्मा की जानकारी करवाता है और समाज कल्याण सम्बन्धी गतिविधियों में भी अपना योगदान देता रहता है।