• 4/21/2019

मुख्य खबर

Share this news on

मुख्यमंत्री मनोहर लाल व देवेंद्र फडणवीस एक फरवरी को 33वें अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुण्ड शिल्प मेला का करेंगे उदघाटन

Preeti

/

1/31/2019 9:47:41 PM

चण्डीगढ़, 31 जनवरी। हरियाणा के पर्यटन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजय वर्धन ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल व थीम स्टेट महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कल एक फरवरी, 2019 को प्रात: 11.00 बजे 33वें अंतर्राष्ट्रीय सूरजकुण्ड शिल्प मेला का उदघाटन करेंगे, जिसमें केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, हरियाणा के पर्यटन एवं शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा तथा महाराष्ट्र के पर्यटन व रोजगार मंत्री जयकुमार रावल, हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल, थाईलैंड के राजदूत चुटीन टार्न गांटा साकदी भी उपस्थित रहेंगे। उन्होंने कहा कि सूरजकुंड क्राफ्ट मेले की प्रसिद्धी विदेशों तक फैल चुकी है। पूरे विश्व में हस्तशिल्प की दृष्टि से यह बहुत बड़ा मेला है। वर्ष 1987 से शुरू हुआ यह मेला हर वर्ष उन्नति की ओर अग्रसर है। यह हस्तशिल्प मेला हस्तशिल्पियों की कला व उत्पाद को सीधा दर्शकों को प्रदर्शित करने में बहुत कारगर सिद्ध हो रहा है। साथ ही यह हस्तशिल्प परंपरा को भी जीवंत बनाए हुए है। उन्होंने बताया कि इस मेले में अफगानिस्तान, न्यूजीलैंड, उज्बेकिस्तान, कजागिस्तान, जिम्बाब्वे, ट्यूनीशिया, वरुंदी, जम्बिया, कामरोज, तुर्की, दक्षिण अफ्रीका, इजिप्ट, सीरिया, ऑस्ट्रेलिया, नीदरलैंड, श्रीलंका, अर्जेंटीना, नाइजर, तजाकिस्तान बांगलादेश, लेबनान, घाना, इथोपिया, मोरक्को, फिलिस्तीन, भूटान, युगांडा, अर्बेनिया, मालदीव, सूडान, केन्या व लोकतान्त्रिक गणतंत्र कांगो आदि देश भाग ले रहे हैं। इन देशों के लोक कलाकार भी मेले में अपनी कला का शानदार प्रदर्शन प्रस्तुत करेंगे। उन्होंने कहा कि अंतर राष्ट्रीय सूरजकुंड मेला महाराष्ट्र थीम पर आधारित है, जिसके माध्यम से महाराष्ट्र राज्य की विभिन्न कला व हस्तशिल्प कि परंपराओं को दर्शाया जा रहा है। इसमें महाराष्ट्र के सैंकड़ों कलाकार अपनी नृत्य व अपनी लोक कलाओं को प्रदर्शित करेंगे। परंपरागत नृत्य व कलाएं शिवाजी महाराज पर आधारित होंगी। उन्होंने कहा कि यह मेला मैदान 40 एकड़ भूमि में फैला हुआ है और शिल्पकारों के लिए एक हजार से ज्यादा स्टाल लगाए गए हैं। साथ ही बहु व्यंजन खाद्य स्टाल होंगे। इनमें महाराष्ट्र, हरियाणा और कई अन्य राज्यों के व्यंजनों के फूड कोर्ट भी शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि यह मेला एक फरवरी से 17 फरवरी तक प्रात: 10.30 बजे से रात्रि 8.30 बजे तक खुला रहेगा। उन्होंने बताया कि मेला में प्रवेश टिकट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू.बुकमाईशो.कॉम पर ऑनलाइन बुक किये जा सकते हैं। सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों की छात्राओं को हरियाणा की बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के एक भाग के रूप में कार्यदिवस में मेले में मुफ्त प्रवेश दिया जायेगा। साथ ही युद्ध विधवाओं और स्वतंत्रता सेनानियों को वैध आईडी प्रमाण पत्र के साथ प्रवेश दिया जायेगा। इस बार थाईलैंड भागीदार राष्ट्र है और ऑस्ट्रिया, नीदरलैंड अर्जेंटीना, फिलिस्तीन, कामरोज पहली बार भाग ले रहे हैं। देश के लगभग सभी राज्य व केंद्र शासित प्रदेश भाग ले रहे हैं। सूरजकुंड मेला प्राधिकरण की ओर से दिव्यांगों, वरिष्ठ नागरिकों, सेवानिवृत रक्षा कर्मियों को प्रवेश टिकट पर 50 प्रतिशत की छूट प्रदान करेगा। पहचान-पत्र के आधार पर कालेज के विद्यार्थियों को प्रवेश टिकट पर 50 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी। नौ फरवरी को महाराष्ट्र थीम पर फैशन शो आयोजित किया जायेगा, जो राज्य के हथकरघा और बुनाई शैलियों की भव्यता को प्रदर्शित करेगा। प्रवेश टिकट सप्ताह के दिनों में 120 रुपए व सप्ताहांत पर 180 रुपए है। उन्होंने बताया कि सूरजकुंड मेला में महाराष्ट्र को थीम स्टेट बनाया गया है और महाराष्ट्र प्रदेश को दूसरी बार यह जिम्मेवारी मिली है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के ऐतिहासिक शिवाजी रामगढ़ फोर्ट का प्रारूप मेला परिसर में बनाया गया है, ताकि यहां आने वाले पर्यटक इस किले की गौरव गाथा के बारे में अच्छी प्रकार से जान सकें। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में पूरे मेले में महाराष्ट्र प्रदेश विभिन्न कला व संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी।