• 4/23/2019

मुख्य खबर

Share this news on

पंजाब सरकार ने शिक्षा, तकनीकी प्रशिक्षण और कौशल विकास को लेकर कैनेडा के साथ किया समझौते पर हस्ताक्षर

Varsha

/

2/7/2019 9:38:02 PM

चंडीगढ़, 7 फरवरी। शिक्षा, प्रशिक्षण और कौशल विकास सैक्टर को आगे और बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में पंजाब सरकार ने कैनेडा के ऐलबरटा राज्य की सरकार के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। दोनों पक्ष सूचना के आदान -प्रदान और ऊर्जा, कृषि, पर्यावरण प्रबंधन, प्रौद्यौगिकी, ऐरो स्पेस, डिफेंस, आतिथ्य और परचून के अन्य प्राथमिक क्षेत्रों में सहयोग करने के लिए संभावनाएं तलाशने के लिए सहमत हो गए हैं। इस सहमति पत्र पर मुख्यमंत्री की हाजिऱी में तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी और ऐलबरटा सरकार के चीफ़ असिस्टेंट डिप्टी मनिस्टर मैथ्यू मैशिल्स ने हस्ताक्षर किये। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अफ़ीम की आदत से निपटने के लिए तजुर्बे और महारत प्राप्त करने के लिए ऐलबरटा सरकार के साथ सांझ पैदा करने के लिए तकनीकी शिक्षा विभाग को कहा है। इसकी विस्तृत जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह सहमति पत्र मुख्य तौर पर प्रशिक्षण और कौशल विकास के लिए सामथ्र्य निर्माण में विस्तार करने के लिए विषय मामलों के माहिरों के बढिय़ा अमल और व्यस्तता के आदान -प्रदान पर मूलभूत रूप में केंद्रित होगा। व्यापार, शिक्षा और प्रौद्यौगिकी के प्रशिक्षण से व्यापारिक और सरकार के मिशन और टूर भी इसमें सम्मिलन करने वालों के क्षेत्रों में आयोजित किये जाएंगे। इसके अलावा यह सहमति पत्र नवीकरणीय और आपसी सहयोग के लिए संयुक्त अनुसंधान अवसरों और उभर रही प्रौद्यौगिकी के लिए रणनीतिक परामर्श मुहैया करवाएगा। भारतीय और कैनेडियन समाज के पूरक स्वभाव का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कृषि और इंजीनियरिंग जैसे अन्य द्विपक्षीय महत्ता के अहम क्षेत्रों में मौजूदा सूचना प्रभावी तरीके से साझा करने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया जिससे समूचे विकास को यकीनी बनाया जा सके। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने दौरे पर आए कैनेडा के मंत्री को कहा कि वह दोनों देशों के बीच और शिक्षा आदान -प्रदान प्रोग्रमों का प्रबंध करने की संभावनाओं का पता लगाएं जिससे शिक्षा नीति निर्माताओं, विद्यार्थियों और अध्यापकों के सीखने के मौकों में विस्तार किया जा सके। रोजग़ार प्राप्त करने के लिए विद्यार्थियों के सशक्तिकरण के लिए राज्य सरकार की वचनबद्धता प्रकट करते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने विभिन्न प्रांतीय नशा रोकथाम प्रोग्रामों का जि़क्र किया जिनमें डैपो और बड्डी जैसे प्रोग्राम भी शामिल हैं जो प्रभावित नौजवानों को मुख्य धारा में वापिस लाने के लिए महत्वपूर्ण साबित हुए हैं। राज्य सरकार ने 160 ओ.ओ.ए.टी. क्लीनिक स्थापित किये हैं जहाँ नशों से प्रभावित नौजवानों का प्रभावी इलाज करवाया जा रहा है। शिक्षा, बाग़बानी और कौशल विकास के क्षेत्रों में महारत और प्रौद्यौगिकी के स्थानांतरण के द्वारा पंजाब की हर मदद करने और सहयोग देने का दौरे पर आए कैनेडा के मंत्री ने मुख्यमंत्री को भरोसा दिलाया। मीटिंग में मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, डायरैक्टर तकनीकी शिक्षा प्रवीण थिंद भी उपस्थित थे। प्रतिनिधिमंडल में कौंसिल जनरल कैनेडा मिया येन भी थे।