• 8/26/2019

मुख्य खबर

Share this news on

भाजपा ने ली शुगर मिल और किसानों की सुध: मंत्री ग्रोवर

Manoj Sharma

/

2/21/2019 8:56:28 PM

चंडीगढ़, 21 फरवरी। प्रदेश के शुगर मिलों की हालत को सुधारने और गन्ना उत्पादकों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए प्रदेश की भाजपा सरकार किसानों के हित में हर बड़ा कदम उठाएगी। करीब 1100 करोड़ रुपए से शुगर मिल और 45 करोड़ रुपए से वीटा मिल्क प्लांट के आधुनिकीकरण और नवीनीकरण पर खर्च किए जाएंगे, जिनकी योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। यह कहना है प्रदेश के सहकारिता मंत्री मनीष कुमार ग्रोवर का। विधानसभा सत्र के बाद मीडिया कर्मियों से बातचीत में मंत्री ग्रोवर ने कहा कि पानीपत के डाहर गांव में करीब 73 एकड़ में बनने वाली शुगर मिल का टेंडर जारी हो चुका है । इस पर 300 करोड रुपए से ज्यादा खर्च होंगे जबकि करनाल शुगर मिल का कार्य पहले ही चालू हो चुका है । इनके अलावा प्रदेश के दूसरे शुगर मिलों की पिराई का क्षमता बढ़ाने को लेकर गंभीरता से कार्य हो रहा है। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए मंत्री ग्रोवर ने कहा कि पिछले करीब सवा 4 साल में भारतीय जनता पार्टी की हरियाणा सरकार ने देश में सबसे ज्यादा गन्ने का रेट किसानों को देने का कार्य किया है। साथ ही साथ किसानों के खातों में सीधी पेमेंट डाली जा रही है । पहले कांग्रेस और इनेलो सरकारों के शासन में गन्ना उत्पादक की पेमेंट को लेकर किसान परेशान रहते थे। दो से तीन साल तक पेमेंट नहीं मिलती थी, लेकिन भाजपा सरकार ने पुराने ढर्रे पर चल रही व्यवस्था को बदल कर किसानों के हित में बड़ा फैसला लिया है। आने वाले समय में गन्ना उत्पादकों को और अधिक हाईटेक सुविधाओं से जोड़ा जाएगा। मिल्क प्लांट पर खर्च होंगे 45 करोड़ रुपए मंत्री ग्रोवर ने बताया कि वीटा मिल्क प्लांटों को भी हाईटेक किया जा रहा है । जींद में जहां दही का प्लांट लगाया गया है, वही रोहतक वीटा प्लांट में फ्लेवर बोटल प्लांट शुरु किया है। जल्द ही मिल्क प्लांटों में मशीनीकरण को आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जाएगा। किसानों की पेमेंट समय पर करने के निर्देश इससे पहले, विधानसभा सत्र में एक सवाल का जवाब देते हुए मंत्री ग्रोवर ने कहा कि प्रदेश के किसानों की पेमेंट समय पर करने के निर्देश दिए गए हैं । सबसे ज्यादा रेट भी हरियाणा में ही किसानों को दिया जा रहा है।