• 8/26/2019

मुख्य खबर

Share this news on

चुनावी भेदभाव है प्रधानमंत्री को आचार संहिता से बाहर रखना: प्रताप चंद्र

Varsha

/

3/4/2019 6:50:41 PM

दिल्ली, 4 मार्च । राष्ट्रीय राष्ट्रवादी पार्टी के अध्यक्ष प्रताप चन्द्रा नें सोमवार को मुख्य चुनाव आयुक्त को अंतिम रीमाइंडर का पत्र लिखा कि लोकतंत्र का पहला चरण चुनाव होता है जिसे बिना भेदभाव के अवसर की समता सुनिश्चित कर फ्री एंड फेयर चुनाव करानें की जिम्मेदारी निर्वाचन आयोग की है | 07-अक्टूबर-2014 को लिखे D.O. लेटर पर चुनाव आयोग द्वारा प्रधानमंत्री को माडल कोड आफ कंडक्ट से एक्सेम्पट कर देना वो भी न सिर्फ आफिसियल बल्कि चुनावी कार्य हेतु, चुनावी भेदभाव है| उक्त D.O. लेटर को रद्द करनें के लिए आपको 23/02/2019 और 26/02/2019 को पत्र प्राप्त कराया था परन्तु कोई रिप्लाई नहीं आया, यदि भेजा हो तो कृपया इसके बारे में सुचना प्रदान करवाई जाएं। अतः आपसे सादर अनुरोध है कि लोकसभा चुनाव भी होने वाला है लिहाज़ा तत्काल उक्त D.O. लेटर को ख़ारिज करनें की कृपा करें जिससे राजनैतिक न्याय हो सके और चुनाव फ्री एंड फेयर कहा जा सके | अन्यथा मजबूरन पार्टी को अदालत का दरवाजा खटखटाना पड़ेगा जो आयोग की छवि के लिए ठीक नहीं होगा| ये निष्पक्ष हो ही नहीं सकता कि एक तरफ सभी व्यक्ति चुनाव आचार संहिता से बधे हों और प्रधानमंत्री बाहर हों उनपर आचार संहिता लागू ही नहीं होगी, सरकारी खर्चे पे वो पार्टी का प्रचार करेंगे | यह जानकारी प्रताप चंद्रा ने जारी एक विज्ञप्ति में दी है।