• 4/23/2019

मुख्य खबर

Share this news on

शहीदो को दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

Image

Manoj Sharma

/

3/23/2019 10:40:51 PM

चंडीगढ़, 23 मार्च । बजरंग दल और दुर्गा वाहिनी चंडीगढ़ ने बलिदान दिवस पर शनिवार को शहीदो को दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि । बजरंग दल चंडीगढ़ संयजोक दविंदर सिधु ने शहीदों के साथ 23 मार्च 1931 के दिन किस तरह का बर्ताव हुआ था उसकी जानकारी देते हुए बताया कि 23 मार्च 1931 की रात भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की देश-भक्ति को अपराध की संज्ञा देकर फाँसी पर लटका दिया गया। फांसी के लिए 24 मार्च की सुबह तय की गई थी लेकिन किसी बड़े जनाक्रोश की आशंका से डरी हुई अँग्रेज़ सरकार ने 23 मार्च की रात्रि को ही इन क्रांति-वीरों की हत्या कर रात के अँधेरे में ही लाहौर से काफी दूर फिरोजपुर जिले के हुसैनीवाला गांव के नजदीक सतलुज नदी के किनारे इन्हें जलाने का प्रयास किया जिसे सुबह होने तथा स्थानीय लोगो के आ जाने से अधजली लाश को छोड़कर अंग्रेजो को भाग जाना पड़ा। इसी स्थान पर बाद में सम्मान पूर्वक उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनकी स्मृति में आज वहां एक भव्य स्मारक स्मारक बना हुआ है । जहाँ देश भर के लोग उन्हें श्रद्धा सुमन भेंट करने प्रतिदिन आते है । दुर्गावाहिनी संयोजिका शिप्रा बंसल ने कहा कि ऐसे क्रांतिकारी जिन्होंने इस देश पर सब कुछ न्योछावर कर दिया उन वीरो को हमेशा याद करना चाहिए। आज के युवाओं को हमेशा उनसे प्रेरित होना चाहिए और देशभक्ति की भावना और जज़्बा उनकी तरह होना चाहिये। किसी सवंत्रता सेनानी ने सच ही कहा है कि " शहीदों की चिताओ पर लगेंगे हर दिन मेले वतन पे मरने वालो का ही नामो निशाँ होगा । इस श्रद्धांजिल समारोह में मुख्य रूप से सुशील पांडेय ,अनुज सहगल , हर सिमरन , सिमरन , सनी , राकेश मिश्रा , सतवीर सिंह , करण गोयल , राज यदुवंशी , अरविंद शुक्ला , रोहित , जीतू , जितेंदर रावत , संदीप गर्ग , विजय अग्रवाल , पंकज , अरविंद मौर्य , अंकुर , विजय और सौरव आदि उपस्थित रहे।