• 7/24/2019

मुख्य खबर

Share this news on

हरियाणा के एक युवा ने किफ़ायती दो सीटों वाली कार का डिज़ाइन किया तैयार

Image

Varsha

/

4/3/2019 9:25:00 PM

चंडीगढ़, 3 अप्रेल। भारत प्राचीन काल से ही ज्ञान-विज्ञान का केंद्र रहा है। नवीन भारत का निर्माण भी ज्ञान विज्ञान के क्षेत्र में नई ऊंचाईयां छुए बिना नहीं हो सकता। आइए गौरवशाली अतीत से प्रेरणा लेकर भव्य भविष्य का निर्माण करने के लिए परिश्रम करें। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने बुधवार को महर्षि दयानंद सीनियर सेकेंडरी स्कूल में युवा इंजीनियर सनी मान के सम्मान में आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि यह टिप्पणी की। इस विद्यालय के विद्यार्थी रह चुके सन्नी मान ने एक किफ़ायती दो सीटों वाली कार का डिज़ाइन तैयार किया है जो अपने आप में अनूठा है। कार्यक्रम की अध्यक्षता गाँव के सरपंच दिलावर सिंह मान और विद्यालय के निदेशक नरेन्द्र मान ने संयुक्त रूप से की। अपने संबोधन में प्रोफ़ेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने विद्यार्थियों और शिक्षकों का आह्वान किया कि वे ‘भारत माता की जय’ को अपने जीवन का आधारभूत मंत्र बनाएँ। उन्होंने कहा कि जिस देश ने दुनिया को शून्य, दशमलव, वैज्ञानिक काल गणना से लेकर सर्जरी और संसार की सर्वाधिक वैज्ञानिक भाषा संस्कृत दी हो, दुर्भाग्य से अंग्रेजों और उनके मानसिक ग़ुलामों ने उस गौरवशाली भारत का हमेशा से नकारात्मक चित्रण किया है। इस अवसर पर उन्होंने सन्नी मान को बाधाओं को चीरकर आगे बढ़ने वाला युवा इंजीनियर क़रार दिया और आश्वासन दिया कि सनी और उसके जैसे लीक से हटकर सोचने और प्रयास करने वाले नौजवानों की हर संभव मदद की जाएगी। औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में सनी मान के शिक्षक रहे राम बिलास शर्मा ने इस अवसर पर बताया कि सनी प्रारंभ से ही रचनात्मक प्रतिभा वाला जुनूनी विद्यार्थी रहा है और उन्हें विश्वास है कि उसकी यह कार्यशैली जीवन में उसे बहुत ऊँचा स्थान प्राप्त कराएगी। शिक्षक, समाजसेवी और कवि अनिल सिंघानिया ने इस अवसर पर विद्यार्थियों का आह्वान किया कि वे स्वाध्याय का मार्ग पकड़कर ऊँचे लक्ष्य प्राप्त करने के लिए साधना करें। इससे पहले बल्ला पहुँचने पर भाजपा नेता राम मेहर शर्मा, सरपंच दिलावर सिंह और संस्थान के निदेशक नरेन्द्र मान ने प्रोफेसर चौहान व अन्य अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर सन्नी मान ने अपनी अनूठी कार की खासियतें उपस्थित लोगों को बतायी और उसे चलाकर भी दिखाया। इस अवसर पर डायरेक्टर नरेन्द्र मान, सरपंच दिलावर मान, राजरूप भोलू, बजीन्द्र मान, गौतम, विभागाध्यक्ष कविता मान, संगीता मदान, सुरेन्द्र डी. पी. , दलसिंह मान तथा आई. टी. आई. करनाल से हरेन्द्र सिंह आदि गणमान्य उपस्थित थे ।