• 6/17/2019

मुख्य खबर

Share this news on

किसान हों या आढ़ती सबके हितों की होगी रक्षा: प्रो. चौहान

Image

Varsha

/

4/14/2019 12:37:42 AM

करनाल, 13 अप्रैल। राज्य में गेहूं की व्यवस्थित खरीद सुनिश्चित करने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। किसान और आढ़ती दशकों से एक दूसरे के पूरक के रूप में इस प्रक्रिया का हिस्सा रहे हैं। इस ताने-बाने को दोनों पक्षों के हित में कायम रखने के लिए प्रतिबद्धता के साथ काम किया जा रहा है। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और भाजपा नेता प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने आज यहां नई अनाज मंडी में गेहूं की खरीद प्रक्रिया प्रारंभ होने के अवसर पर किसानों और व्यापारियों को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की। न्यू पंचायत नई अनाज मंडी के प्रधान बेअंत सिंह बब्बू और राइस मिलर्स एसोसिएशन के प्रधान विनोद गोयल की उपस्थिति में उन्होंने लड्डू बांटकर प्रक्रिया की औपचारिक शुरुआत की। व्यापारियों की हड़ताल समाप्ति के बाद आज दोपहर से करनाल समेत प्रदेशभर में अनाज मंडियों में खरीद की प्रक्रिया पटरी पर आने का सिलसिला शुरू हो गया। अपने संबोधन में वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि खरीद प्रक्रिया को लेकर हरियाणा स्टेट मंडी एसोसिएशन और उसके अंतर्गत आने वाली विभिन्न मंडियों की एसोसिएशन गेहूं की खरीद पुरानी प्रक्रिया के तहत करने की मांग पर अडिग थी। राज्य सरकार ने उनकी इस मांग को मान लिया है जिस के चलते प्रदेश व्यापी हड़ताल आज विधिवत वापस हो गई। प्रो. चौहान ने कहा कि सरकार की मंशा व्यवस्था में पारदर्शिता लाने की है और जब व्यवस्था पारदर्शी होती है समाज के अधिकांश लोगों को उससे लाभ ही होता है। उन्होंने दोहराया कि अन्नदाता किसान के कल्याण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कई प्रभावी कदम उठाए गए हैं। यह सिलसिला भविष्य में भी जारी रहेगा। प्रो वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि मार्केट कमेटी सहित सरकारी अमले को हर हाल में यह सुनिश्चित करना होगा कि किसानों, व्यापारियों और खरीद की प्रक्रिया से जुड़े अन्य श्रेणियों के लोगों को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा ना हो। उन्होंने मार्केट कमेटी के अधिकारियों से परिसर में बिजली पानी और सफाई की व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए कहा। प्रो. चौहान ने कहा कि सरकारी कर्मचारी और अधिकारी जनसेवक हैं तथा किसान व आढ़ती उन्हें अधिकार पूर्वक और बिना संकोच के अपनी समस्याएं बताएं ताकि समाज के किसी भी तबके को बेवजह परेशानियों का सामना ना करना पड़े। उन्होंने सभी अधिकारियों की मौजूदगी में किसानों और आढ़तियों से उनकी समस्याएं बयान करने के लिए कहा तथा आश्वासन दिया कि छोटी बड़ी सभी समस्याओं का निराकरण करवाया जाएगा। मंडी प्रधान बेअंत सिंह उर्फ बब्बू और राइस मिलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विनोद गोयल ने इस अवसर पर हड़ताल को समाप्त कराने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा किए गए सकारात्मक हस्तक्षेप का स्वागत किया। इस अवसर पर हाफेड के मेनेजर उधम सिंह, खाद्य वितरण डी. एफ. एस. सी. जसबीर, जयपाल गोयल, प्रदीप, निशांत राणा, रामपाल ढाकल, हंसराज, सतबीर मित्तल, जयपाल गर्ग, राजेश गर्ग, विपुल दीवान आदि गणमान्य उपस्थित रहे ।