• 10/20/2019
Latest News

मुख्य खबर

Share this news on

‘एक राष्ट्र -एक भाषा ‘ का विचार देश के संघीय ढांचे को तबाह कर देगा: विजय इंदर सिंगला

Rajan

/

9/22/2019 9:25:20 PM

चंडीगढ़, 22 सितंबर। पंजाब के शिक्षा मंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय इंदर सिंगला ने कहा है कि भाजपा द्वारा चलाया जा रहा ‘एक राष्ट्र - एक भाषा’ का एजेंडा देश के संघीय ढांचे को तबाह कर देगा और यह प्रचलन बहुभाषाई राज्यों के सुमेल वाले भारत देश के लिए बहुत ख़तरनाक है। आज यहाँ जारी प्रैस बयान में सिंगला ने कहा कि भारत के गृह मंत्री अमित शाह द्वारा ‘एक राष्ट्र - एक भाषा’ के दिए बयान से भाजपा के गुप्त एजंडे की पोल खुल गई है जो देश के संविधान की मूल भावना के विरूद्ध है। उन्होंने कहा कि भारत बहु भाषाई, बहु सभ्यताओं, विविधताओं वाला देश है जिसका संविधान ‘अनेकता में एकता’ की बात करता है परंतु भाजपा नेता द्वारा कही बात संविधान की मूल भावना के उलट है। उन्होंने कहा कि जब से एन.डी.ए. की सरकार देश में आई है, तब से देश के संविधान को कमज़ोर करने और संवैधानिक संस्थाओं की अवहेलना की जा रही है और अब इस नये विचार से देश के संविधान पर सबसे बड़ा हमला हुआ है। सिंगला ने केंद्रीय सत्ता में सहयोगी अकाली दल को भी इस मामले पर स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि अकाली दल के नेताओं की चूप्पी भी स्पष्ट करती है कि उनको देश के संघीय ढांचे के साथ कितना प्यार है और वह राज्यों के लिए कितने अधिक अधिकार मांगते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब राज्य बना ही भाषा के आधार पर था और एक राष्ट्र एक भाषा का फ़ार्मूला पंजाब जैसे राज्यों के लिए सबसे अधिक ख़तरनाक है। सिंगला ने कहा कि भारत में अलग -अलग राज्यों और क्षेत्रों की अपनी-अपनी भाषाएं हैं और एक भाषा वाली बात भाषाई आधार पर बने राज्यों के लोगों के खि़लाफ़ है। उन्होंने कहा कि इससे देश का संघीय ढांचा भी कमज़ोर होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा के इस विचार का कश्मीर से कन्याकुमारी तक विरोध होगा और कांग्रेस पार्टी कभी भी भाजपा को अपने मंसूबों में सफल नहीं होने देगी।