• 10/20/2019
Latest News

मुख्य खबर

Share this news on

होलिस्टिक हीलिंग पर 3 दिवसीय इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस हुआ समाप्त

Image

Rohit Aswal

/

9/22/2019 9:29:29 PM

मोहाली, 22 सितंबर। इंटीग्रेटिव मेडिसिन एंड होलिस्टिक हीलिंग पर 3 दिवसीय इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस, रविवार को नाइपर, मोहाली में समाप्त हुई। इस के समापन पर सभी प्रतिभागियों ने एक मत पर सहमति जताई कि बीमारी तब तक पूरी तरह से ठीक नहीं हो सकती जब तक कि हम अन्य उपचारों के साथ रोगियों के भावनात्मक मुद्दों पर काम न करें। अधिकांश डॉक्टरों को रोग के फिजिकल पहलुओं पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है, लेकिन पारंपरिक ज्ञान और होलिस्टिक हीलिंग के तरीके और एनर्जी मेडिसिन हमें रोगी के मन और आत्मा पर भी ध्यान केंद्रित करने के भी बताती हैं। कॉन्फ्रेंस का आयोजन द क्वांटम क्लिनिक, मोहाली ने होलिस्टिक हीलिंग ट्रस्ट और मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल, मोहाली के सहयोग से किया था। डॉ.सचिन गुप्ता, मेडिकल ऑन्कोलॉजिस्ट और कॉन्फ्रेंस के मुख्य आयोजक ने कहा कि बीमारियों को तब तक पूरी तरह से ठीक नहीं किया जा सकता है जब तक कि हम अन्य उपचारों के साथ रोगियों के भावनात्मक मुद्दों पर काम नहीं करते हैं। योग, डीप ब्रीदिंग (गहरी सांस), ध्यान और प्राणायाम तकनीकों को अपनाने से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार करने में मदद मिलती है। डॉ.सचिन गुप्ता ने कहा कि कैंसर अस्पतालों को अल्टरनेटिव हीलर्स (वैकल्पिक उपचारकर्ताओं) की एक टीम विकसित करनी चाहिए जैसे कि रेकी हीलर, प्राणिक हीलर्स, सम्मोहन चिकित्सक और साइकोलॉजिस्ट्स आदि। ये सभी ऑन्कोलॉजिस्ट के साथ मिलकर काम कर सकते हैं और सभी रोगियों की संपूर्ण तौर पर उपचार प्रदान करने में मदद कर सकते हैं। कॉन्फ्रेंस के दौरान दुनिया भर के थैरेपिस्ट्स ने विभिन्न विषयों पर अपने विचार और रिसर्च पेपर प्रस्तुत किए, जिसमें बायोफील्ड व्यूवर्स भी शामिल थे, जो व्यक्ति विशेष के ऑरिक फील्डज्ञ को पकडऩे की क्षमता रखते हैं और उनके एनर्जी फील्ड में समस्याओं को निर्धारित करने में मदद करते हैं, हाइपोथेरेपी जो पिछले ट्रॉमा से छुटकारा पाने व विचारों और भावनाओं को बदलने में मदद करते हैं, ओजोन थैरेपी, जो पुरानी बीमारियों से छुटकारा पाने में मदद करती हैं और एक्यूपंक्चर जो की एक विस्तृत श्रृंखला के लिए एक सहायक चिकित्सा के रूप में इस्तेमाल की जा रही है, जिसमें विभिन्न प्रकार की बीमारियों और पुरानी समस्याओं का उपचार करने की असीम मेडिकल क्षमता है। कॉन्फ्रेंस के सह-आयोजक क्वांटम क्लिनिक की डॉ.श्वेता गुप्ता ने बताया कि संगीत को आत्मा की भाषा के रूप में मान्यता देते हुए, इसे कॉन्फ्रेंस के एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनाया गया। कॉन्फ्रेंस में अन्य देशों से आए कई बेहतरीन साउंड हीलर्स ने वहां मौजूद दर्शकों को प्राचीन परंपराओं के एक संगीत अनुभव के माध्यम से एक अलग उपचार प्रक्रिया से परिचित करवाया। उन्होंने ओरिएंटल और ऑक्सीडेंटल, दोनों को फ्यूजन और समकालीन शैलियों के साथ मिलाकर हीलिंग वाइब्रेशंस का संचार किया। निमृत नैन, एनर्जी हीलर ने बताया कि ‘‘भावनाओं का न्यूरो-हार्मोनल-इम्यून सिस्टम के माध्यम से शरीर पर काफी अधिक प्रभाव पड़ता है। स्वास्थ्य की बेहतर स्थिति के लिए नकारात्मक विचारों, भावनाओं और अहसास को पहचानना और उनका दूर करना जरूरी है। मजबूत विचार शक्ति के साथ अपने विचारों और भावनाओं को संशोधित कर सकते हैं और अपने जीवन में बड़े बदलाव ला सकते हैं।’’ इस बीच कॉन्फ्रेंस के आखिरी दिन रेनी सिंह, मोटिवेशनल स्पीकार ने तनाव प्रबंधन, इमोशनल हेल्थ और वेलनेस के बारे में बात की। नागपुर से आए आयुर्वेद आचार्य प्रो.भरत ने स्वास्थ्य के लिए व्यावहारिक उपाय बताए कि कैसे अपनी रसोई में मौजूद जड़ी-बूटियों को हीलिंग और वेलनेस के लिए इस्तेमाल किया जाए और उनसे लाभ प्राप्त किया जाए। डॉ.एन.के.शर्मा, आध्यात्मिक गुरु और रेकी हीलिंग फाउंडेशन के डायरेक्टर, ने ‘फूड फॉर सोल: नेचुरोपैथी, लाइफस्टाइल और न्यूट्रीशन के बारे में बात की।’ ओजोन ट्रस्ट ऑफ इंडिया के डॉ. मिली शाह ने पुरानी बीमारियों में ओजोन थैरेपी की भूमिका पर चर्चा की। डॉ. रमन कपूर ने एक्यूपंक्चर स्पेशलिस्ट से पुरानी बीमारियों में एक्यूपंक्चर की भूमिका के बारे में भी बात की। मार्टिन अचिरिका, संस्थापक, एसपीईएस क्लिनिक, द सोल क्लिनिक, मैक्सिको सिटी ने मन, भावनाओं और आध्यात्मिक आयामों के लिए मेडिसिन को इंटीग्रेट करने पर बात की। स्पेन से डॉ.एना मारिया ओलिवा, जो हेल्थकेयर की साबियो थैरेपी में माहिर हैं, ने इलेकक्ट्रोमेग्नेटिक फील्ड, मन, शरीर और आत्मा को मापने के आधार पर स्वास्थ्य के होलिस्टिक मॉडल पर एक उपयोगी प्रेजेंटेशन दी। ताही रिकार्ट, एक्यूपंक्चरिस्ट और साइकोथैरेपिस्ट, एसपीईएस क्लिनिक, मेक्सिको सिटी ने मानवीय शरीर की कार्यकुशलता और विकास के फाइन आर्ट पर एक जानकारीपूर्ण शो प्रस्तुत किया।