• 12/11/2019
Latest News

मुख्य खबर

Share this news on

बौद्ध गुरु संघसेना अंतर्राष्ट्रीय उत्कृष्टता पुरस्कार से हुए सम्मानित

Image

Khushmeet Brar

/

12/2/2019 10:25:35 PM

चंडीगढ़, 02 दिसंबर । लद्दाख एवं चंडीगढ़ स्थित महाबोधि इंटरनेशनल मेडिटेशन सेंटर के संस्थापक अध्यक्ष, भिक्खू संघसेना को इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली में आयोजित एक विशेष कार्यक्रममें 'रैस्पैक्ट एज इंटरनेशनल अवार्ड ऑफ एक्सीलेंस 2019' से सम्मानित किया गया। विश्व विख्यात बौद्ध भिक्षुक, संघसेना को यह पुरस्कार विशेष रूप से बुजुर्ग और बेसहारा लद्दाखी लोगों की अथक सेवाओं के लिए प्रदान किया गया। वह सेव दि हिमालय फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष भी हैं। रैस्पैक्ट एज इंटरनेशनल फाउंडेशन का आभार व्यक्त करते हुए, बौद्ध गुरु ने कहा कि वृद्धों और निराश्रितों की सेवा भगवान बुद्ध द्वारा सिखायी गयी सबसे बड़ी शिक्षाओं में से एक है। उन्होंने सभी से यह सुनिश्चित करने का आग्रह भी किया है कि कोई भी बुजुर्ग व्यक्ति बेघर और बेसहारा न रहने पाये, इसका हमें ध्यान रखना चाहिए। उल्लेखनीय है कि लेह स्थित महाबोधि परिसर में बुजुर्ग एवं बेसहारा लोगों के लिए एक विशेष विंग है, जहां वर्ष भर उनके भोजन, वस्त्र, चिकित्सा और आश्रय की व्यवस्था की जाती है। करीब 250 एकड़ क्षेत्र में फैले महाबोधि परिसर में लद्दाख के जरूरतमंद लडक़े-लड़कियों के लिए एक आवासीय विद्यालय के अलावा, नेत्रहीनों, बाल भिक्षुओं, ननों के लिए अलग-अलग हॉस्टल के अलावा, संबोधि मेडिटेशन रिट्रीट और एक अंतर्राष्ट्रीय अतिथि गृह भी मौजूद है, जहां दुनिया भर से आकर लोग शांति और ध्यान का अनुभव करते हैं। जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल एवं अमरीका में भारत के पूर्व राजदूत, डॉ. करण सिंह ने एक सार्वजनिक समारोह में बोलते हुए, मानवतावादी सेवाओं की उत्कृष्ट उपलब्धि के चलते नोबेल शांति पुरस्कार के लिए भिक्खु संघसेना के नाम की सिफारिश की थी।