• 2/28/2020

मुख्य खबर

Share this news on

स्टेट अवार्डी टिचरों एवं प्रिंसिपलों को गांवों में लगाया जाएं ताकि स्कूलों का रिजल्ट हो और बेहतर: कंबोज

Image

Dr. Kumar

/

2/8/2020 9:37:26 PM

चंडीगढ़, 8 फरवरी । यूटी कैडर एजूकेशनल एप्लाइज यूनियन ने प्रसाशक के सलाहकार की शिक्षा विभाग, चंडीगढ़ यूटी के टीचरों की आन-लाइन ट्रांसफर पाल्सी को मंजूरी देने व नए सेशन से यह पाल्सी लागू करने के फैसले का स्वागत करते हुए यूनियन की कुछ मांगों को इसमें शामिल करने की अपील की है । यूनियन के प्रशान स्वर्ण सिंह कंबोज ने जारी एक बयान में कहा है कि इस पाल्सी के तहत एक ही स्कूल में 10 सालो से जम कर बैठ टीचरों की बदली की आन-लाइन की जाएगी जो बहुत अच्छा एवं बेहतर फैसला है । ऐसा करने से टीचरों का व बाबुओं का काम करने के तरीके में भी साफ़-साफ़ दिखाई देगा । उन्होंने प्रशासक से सलाहकार मनोज परीदा से अपील कि है कि वह यूटी के गांव में उन टिचरों हैडस व प्रिन्सिपलस को तैनात करें जिन्हें स्टेट आवाड या नैशनल आवाड मिले हुए है । उन्होंने कहा कि ऐसा करने से चंडीगढ़ यूटी के गाँव के स्कूलों के रिजल्ट में ज्यादा बेहतर बनाया जा सकता है। वही जो टीचर एक ही स्कूल मे 10 सालो से या फिर 10 सालो से उपर जम कर बैठे है उन को ट्रांसफर किया जाए । जिन टीचरों को कई सालो के बाद उसी स्कूल में प्रमोशन हुई और कई साल से उसी स्कूल मे जम कर बैठे है उनका भी ट्रांसफर किया जाए । सभी टीचरों की ट्रांसफर उस की रिहायश से कम से कम 5 किलोमीटर की दूरी पर की जाए । जो भी टीचर एक बार ट्रांसफर होने के बाद कुछ महीनों के बाद दुबारा उसी स्कूल मे ट्रांसफर करवा कर वापिस आ गया उन पर भी कड़ी कार्रवाई की जाए और जिस भी आफिसर के कारन यह हेराफेरी हुई है उस पर भी कड़ी कार्रवाई की जाए तथा जो भी टीचर सालो से गाँवों के स्कूलों मे बैठे है उन को शहरों के स्कूलों मे और जो टीचर कई सालो से शहरों के स्कूलों मे जम कर बैठ है उन को गाँव के स्कूलों मे ट्रांसफर किया जाए ।