• 2/28/2020

मुख्य खबर

Share this news on

मुख्यमंत्री ने मोहाली में बिल्डिंग गिरने की घटना के जांच के दिए आदेश, 7 दिनों में मांगी रिपोर्ट

Apurv Kumar

/

2/8/2020 10:37:33 PM

चंडीगढ़, 8 फरवरी । मोहाली में बिल्डिंग गिरने की घटना का गंभीर नोटिस लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने एस.ए.एस. नगर के अतिरिक्त जि़ला मैजिस्ट्रेट को इस घटना की पूरी तह तक जाकर जांच करने और इसकी रिपोर्ट एक हफ्ते के अंदर सौंपने के लिए कहा है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने साथ ही जि़ला प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि राहत कार्य युद्ध स्तर पर चलाए जाएँ जिससे उन पीडि़तों को बचाया जा सके जिनकी बिल्डिंग के मलबे के नीचे दबे होने की आशंका है। एस.ए.एस. नगर के डिप्टी कमिश्नर गिरीश दयालन द्वारा मिली सूचना के अनुसार अभी दो या तीन लोगों के मलबे के नीचे दबे होने की संभावना है जिनको बचाने के लिए राहत कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री के आदेशों पर राज्य सरकार द्वारा घायलों के इलाज का सारा खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जायेगा। अब तक मिली रिपोर्टों के अनुसार दो व्यक्तियों को बचाया जा चुका है जो उपचाराधीन हैं। डिप्टी कमिश्नर के अनुसार शुरूआती जानकारी में पता चला है कि जब बिल्डिंग गिरी तो साथ लगती इमारत में बेसमेंट के निर्माण के लिए ज.सी.बी. काम पर लगी हुई थी। प्रवक्ता ने बताया कि जांच में यह भी पता लगेगा कि यह निर्माण ग़ैर कानूनी था या नहीं। एस.डी.एम. और ए.डी.सी के नेतृत्व में जि़ला प्रशासन की टीमें तुरंत मौके पर पहुँच गर्ईं और ऐमरजैंसी सेवाओं समेत फायर टैंडर और मैडीकल टीमों को भी बुलाया गया। विशेष साजो-सामान के साथ लैस एन.डी.आर.एफ. की टीमों को सेवा के लिए शामिल किया गया और लुधियाना की एक अतिरिक्त टीम को भी मौके पर बुलाया गया था। प्रवक्ता ने आगे बताया कि पश्चिमी कमांन की सेना के साथ भी संपर्क किया गया और ज़रूरत पडऩे पर उनके इंजीनियरों को भी बचाव कार्यों में मदद के लिए रखा गया। प्रवक्ता ने कहा कि मलबे को हटाने के लिए एल एंड टी की हाईड्रा क्रेन जैसी कुछ मशीनों का स्थानीय तौर पर प्रबंध किया गया। उन्होंने आगे कहा कि बचाव कार्य को समाप्त करने से पहले एन.डी.आर.एफ. मलबे के नीचे दबे या फंसे व्यक्तियों का पता लगाने के लिए अपने खोजी कुत्तों की मदद भी लेगी।