• 2/28/2020

मुख्य खबर

Share this news on

वैलेंटाइन डे नही शहादत दिवस के रूप में मनाया जाना चाहिए: रविंदर सिंह

Image

Khushmeet Brar

/

2/14/2020 11:24:07 PM

चंडीगढ़, 14 फरवरी। देश भर में वैलेंटाइन दिवस को युवाओं द्वारा बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाने लगा है। जोकि हमारी सभ्यता और संस्कृति नही है। आज से ठीक एक वर्ष पहले 14 फरवरी 2019 को पुलवामा अटैक में 44 फौजियों के शहीद होने की आज पहली वर्षगांठ है। इसलिए सभी देशवासियों खासकर युवाओं को इसे शहादत दिवस के रूप में मनाना चाहिए। ये कहना है चंडीगढ़ व्यापार मंडल के लेबर कमेटी सेल के प्रेसिडेंट रविंदर सिंह उर्फ बिल्ला का। चंडीगढ़ व्यापार मंडल के लेबर कमेटी सेल और  मार्किट वेलफेयर एसोसिएशन सेक्टर 24 के आपसी सहयोग से आज वैलेंटाइन दिवस को न मना कर देश के सच्चे सपूतों और देश की आन बान और शान की खातिर अपनी जान न्योछावर करने वाले  शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इन संस्थाओं के सदस्यों द्वारा शहीदों को नमन कर कैंडल जला कर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि दी गई।रविंदर सिंह बिल्ला ने कहा कि युवा इसे प्यार का त्योहार कहते है, युवा वर्ग को चाहिए कि अगर प्यार करना ही है तो अपने देश से करे,अपने धर्म से और अपनी संस्कृति से करे। इस अवसर पर चंडीगढ़ व्यापार मंडल के पूर्व चेयरमैन और नगर निगम के मनोनीत पार्षद चिरंजीव सिंह, अनिल वोहरा, अवनीश बंसल सहित अन्य पदाधिकारी और सदस्य भी मौजूद थे।