• 6/3/2020

मुख्य खबर

Share this news on

कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए हरियाणा सरकार को दिए कई सुझाव

Image

Varsha

/

4/8/2020 7:47:42 PM

चंडीगढ़, 8 अप्रैल । हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा ने बुधवार को कोरोना महामारी से निपटने और प्रदेश के लोगों को राहत देने के लिए हरियाणा सरकार को विभिन्न मुद्दों पर कई सुझाव दिए। इसके साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को आश्वासन दिलाया कि इस महामारी के खिलाफ प्रदेश कांग्रेस के सभी नेता व कार्यकर्ता कंधे से कंधा मिलाकर सरकार के साथ खड़े हैं। कुमारी सैलजा बुधवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमत्री, वरिष्ठ मंत्रियों व अन्य विपक्षी नेताओं के साथ हुई बातचीत में कांग्रेस पार्टी की तरफ से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में हिस्सा ले रही थीं। कुमारी सैलजा ने इस दौरान किसानों को आ रही समस्याओं से जुड़े कई मुद्दे उठाए और सरकार को इनसे निपटने के कई सुझाव दिए। उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि प्रदेश के किसानों का कर्ज माफ कर उन्हें राहत प्रदान की जाए और किसान की उपज का एक-एक दाना खरीदना सुनिश्चित किया जाए। इसके साथ ही इसका भी जायजा लिया जाए कि प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में भंडारण की व्यवस्था और बोरियों की उपलब्धता है या नहीं। उन्होंने फसल कटाई के लिए मनरेगा के मजदूरों को खेती मजदूरों की तरह इस्तेमाल करने की भी मांग सरकार के समक्ष रखी, जिससे इन मजदूरों को रोजगार मिल सके और किसानों को भी राहत मिले सके। कुमारी सैलजा ने हरियाणा सरकार से यह भी निवेदन किया कि प्रवासी मजदूरों को राहत शिविरों में राशन, दवाइयां समेत अन्य जरूरी चीजों की नियमित रूप से आपूर्ति की जाए। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश के लघु उद्योगों को राहत देने की मांग उठाते हुए कहा कि प्रदेश में बड़ी संख्या में मौजूद लघु उद्योग ऐसे मौके पर लंबे समय तक अपने मजदूरों को वेतन नहीं दे पाएंगे। इन उद्योगों और मजदूरों के लिए सरकार राहत का एलान करे। उन्होंने कहा कि प्रवासी मजदूरों के साथ ही हरियाणा के गांवों और शहरों में रहने वाले ऐसे गरीब वर्ग के लोगों के भी तुरंत राशन कार्ड बनवाए जाएं, जिनके राशन कार्ड अभी तक किसी कारणवश नहीं बन पाए हैं और इन्हें तमाम योजनाओं के लाभ दिए जाएं। इस दौरान उन्होंने यह मांग भी उठाई कि कांग्रेस पार्टी के भी एक व्यक्ति को जिला स्तर पर जिला उपायुक्त द्वारा बनाई गई उपायुक्त राहत कोआर्डिनेशन कमेटी में शामिल किया जाए, जिसे कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वीकार कर लिया।