• 6/3/2020

मुख्य खबर

Share this news on

निरंकारी मिशन ने हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में दिया 50 लाख का चैक

Image

Surinder Kumar

/

4/8/2020 7:48:31 PM

चण्डीगढ 8 अप्रैल । निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा महाराज के आदेशानुसार हरियाणा केरोना रिलीफ फंड में बुधवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को उनके निवास स्थान पर संत निरंकारी मिशन की तरफ से पचास लाख रुपये का चेक चण्डीगढ़ के जोनल इंचार्ज के.के. कश्यप व लक्ष्मण दास गोयल ने भेंट किया। जिससे जरूरत मंद परिवारों को सहायता मिल सके। संत निरंकारी मिशन ने विश्वास दिलाया कि इस कोरोना वायरस की लड़ाई में निरंकारी मिशन भारत सरकार की हर सम्भव सहायता करेगा। निरंकारी मिशन निस्वार्थ सेवा और मानवता की भलाई के लिए विश्व के साथ है। मिशन की ओर से पहले ही भारत सरकार को पूरे भारत में जहां जहां भी संत निरंकारी सत्संग भवन है वो सब भवन सरकार को क्वारंटाइन सेंटर बनाने के लिए दे दिए गए थे। बहुत से राज्य में निरंकारी सत्संग भवन में टेम्परेरी क्वारंटाइन सेंटर बना दिए गए है। निरंकारी मिशन की और से पुरे विश्व में मिशन के सेवादारों द्वारा जरूरतमंद परिवारों तक राशन पहुंचाया जा रहा है। इसी लडी में चण्डीगढ़ मोहाली पंचकुला, मनिमाजरा ओर आसपास की ब्रांचो में जरूरत मंद परिवारो को भी राशन पहुंचाया गया है। निरंकारी सद्गुरु माता सुदीक्षा महाराज ने कोविड-19 के चलते निरंकारी मिशन के अनुयईयों के साथ साथ पुरे विश्व को इंटरनेट के माध्यम से वीडियो जारी कर पूरी मानवता को सन्देश दिया। जिसमें उन्होंने कहा के पुरे संसार पर करोना वाइरस के चलते ये जो विपता आयी है हम सब ने चेतन हो कर इस विपता का सामना करना है। हम किसी भी राज्य, देश में रह रहे है हमने वहां की सरकार, हेल्थ एजेन्सीज, जो हमे जैसा भी आदेश दे रही है हम सब ने उन आदेशों का पालन करना है और सरकारों के साथ इस विपता में खड़े होना है। सद्गुरु माता ने कहा जहा हमारे पुरे देश में लॉकडाउन है तो हमने एक अच्छे शहरी होने के नाते सरकार के आदेशों का पालन करना है। हम सब ने आपने घरों के अंदर ही रहना है। ये जो अब हमे समय मिला है तो हम सब ने घर में परिवार के साथ मिल कर इस निरंकार प्रभु की बंदगी करनी है। सभी सेवादारों में सेवा का बहुत जज्बा है।‘‘मानव हो मानव को प्यारा, एक दूजे का बने सहारा‘‘ इसी के मद्देनजर हम सब ने मिल कर जरुरतमंदो की सरकारों के आदेशों को मानते हुए सेवाएं भी करनी है। यह जानकारी जारी एक विज्ञप्ति में दी गई ।