• 12/14/2018

मुख्य खबर

Share this news on

गिन्नी इनिशियल कॉइन ऑफर के लॉन्च की घोषणा की

Image

Manoj sharma

/

12/4/2017 11:46:32 PM

चंडीगढ़, 4 दिसंबर। सिंगापुर स्थित युवा भारतीय कारोबारी विकास गुप्ता ने गिन्नी आई.सी.ओ (इनिशियल कॉइन ऑफर) के लॉन्च की घोषणा चंडीगढ़ में की। एशिया कारोबार के लिए मल्टी मिलियन डॉलर इंफ्रास्ट्रक्चर के समर्थन से 300 मिलियन इनिशियल कॉइन ऑफर लॉन्च करने के लिए तैयार है जिसमे भारतीय निवेशक भी शामिल होंगे। क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल संपत्ति है जो क्रिप्टोग्राफी के उपयोग से लेनदेन को सुरक्षित रखता है।  क्रिप्टोग्राफी के माध्यम से अतिरिक्त यूनिट के निर्माण को नियंत्रित करने और संपत्ति के हस्तांतरण को सत्यापित करने के लिए डिजाइन किया गया है। रिवॉर्ड में कॉइन पाने के लिए मईनर को माइनिंग प्रक्रिया के माध्यम से एक मुश्किल कम्प्यूटेशनल प्रोबलम का हल करना पड़ता है जो कि गणित के सवालों पर आधारित होता है । पूरी प्रक्रिया में कैश या बैंकिंग प्रणाली की कोई प्रत्यक्ष भागीदारी नहीं है, निवेशक इटोरियम भेजते हैं और किसी इंसान के सहभागिता के बिना टोकन तुरन्त स्वचालित रूप से उसी वॉलेट में वापस भेजे जाते हैं। यह एक बहुत ही पारदर्शी प्रक्रिया है, जहां प्रत्येक व्यक्ति यह देख सकता है कि इस स्टार्ट-अप द्वारा कितना धन बनाया गया है। माइनर्स अैट वर्क के सीईओ विकास गुप्ता ने कहा, हम निवेशकों के लिए माइनिंग को सरल एवं यूजर फ्रेंडली बना रहे हैं ताकि वे बिना किसी परेशानी के अच्छे रिवार्ड्स पा सकें। इनिशियल कॉइन ऑफर (आई.सी.ओ) टेक्नोलोजी स्टार्ट-अप के लिए पूंजी की व्यवस्था का एक नया और पारदर्शी तरीका है और निवेशकों को इसके लिए रिवॉर्ड के तौर पर टोकन मिलता है । हमें उम्मीद है कि प्रतिवर्ष 1 बिलियन यूएस डॉलर से अधिक औसत का टर्नओवर होगा। विकास गुप्ता ने बताया कि हमें कुछ निवेशकों से पहले से ही एक मजबूत प्रतिक्रिया प्राप्त हुई है और निवेशकों ने इसमें अपनी रूचि भी दिखाई है। हम निवेशकों को हमारे लाइफ लाइन की तरह मानते है और इसलिए हमने उन्हें हमसे ज्यादा रिवॉर्ड देने का फैसला किया है। हमारा व्यवसाय और सभी व्यवसायों से अलग है क्योकि हम केवल 42% प्रॉफिट ही अपने पास रखेंगे और शेष 58% निवेशकों को एक अनुमानित अनुपात में रिवॉर्ड स्वरुप दिया जायेगा और निवेशकों के लिए रिवॉर्ड पहले ही तिमाही से शुरू होगा।  इस तरह से निवेशक अधिक रिवॉर्ड प्राप्त कर सकते हैं जो कि संपत्ति के रिटर्न और बैंक हितों के दर से अधिक होगा।