• 5/25/2018

मुख्य खबर

Share this news on

बरनाला-कांग्रेस पार्टी विलय एक नजायज़ शादी जैसा: अकाली दल

Image

Punjab

/

7/31/2017 1:05:08 AM

चंडीगढ़ : शिरोमणि अकाली दल ने रविवार को कांग्रेस के साथ बरनाला गुट के विलय को पूरी तरह खारिज़ करते हुये इसको एक नाजायज शादी के अस्तित्व को कायम रखने के लिए एक कानूनी तिगड़मबाजी और गैर सियासी घटनाक्रम बताया है। शिरोमणि अकाली दल के महासचिव प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि पंजाब के दुशमनों ने अब पंजाब के गद्दारों के साथ गठजोड़ की घोषण की है। उन्होंने कहा कि पंजाब के गद्दारों द्वारा अपनी बेशर्मी की सीमा पार कर झूठ का चेहरा लोगों के सामने प्रस्तुत कर दिया है। प्रौ. चंदूमाजरा ने कहा कि इस समागम का दूल्हा सुरजीत सिंह बरनाला समागम से दूर ही रहा। उन्होंने कहा कि दो भागीदारों का नाजायज और अनैतिक गठजोड़ लोगों के सामने आने में क्या नया है? अकाली दल के महासचिव ने कहा कि क्या यह बहुत ही हास्यप्रद बात नही है कि कांग्रेस और बरनाला गुट नजायज रिशते से मुनकर हो रहें हैं और अब अपने अनैतिक गठजोड़ पर खुशी मना रहें हैं। आज यहां जारी बयान में प्रौ. चंदूमाजरा ने कहा कि यह विलय महान संत हरचंद सिंह लोंगोवाल का सरासर अपमान है जिनके नाम की वह बहुत ही बेशर्मी से दुरूप्रयोग कर रहे हैं। संत लोगोंवाल ने अपने संपूर्ण जीवन कांग्रेस के खिलाफ लड़ाई लड़ी। उनकी आत्मा को कितना दुख पहुंचेगा जबकि एक गुट द्वारा उनका नाम आम लोगों में इस्तेमाल कर पंजाब और पंथ के दुशमनों से अनैतिक समझौता किया जा रहा है। कै प्टन अमरिंदर सिंह का दावा कि शिअद-2016 के बाद बिखर जायेगा, पर बोलते हुये प्रौ. चंदूमाजरा ने कैप्टन को पंजाबी कहावत 'कांवां दे कहे ढग्गे नही मारदेÓ याद दिलाई।