• 5/25/2018

मुख्य खबर

Share this news on

दो से तीन वर्षों में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम को कम किया जाएगाः प्रकाश जावड़ेकर

Swarnali Dutta

/

2/27/2018 11:10:27 PM

दिल्ली/चंडीगढ, 27 फरवरी। मानव संसाधन विकास मंत्रालय आने वाले दो से तीन वर्षों में एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों के पाठ्यक्रम को कम करेगा। यह मानव संसाधन विकास मंत्री, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने 27 फरवरी को नई दिल्ली में एक मीडिया ब्रीफिंग में खुलासा किया था। अधिक जानकारी देते हुए, जावड़ेकर ने कहा कि देश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त करने का विचार मंत्रालय द्वारा आयोजित छह कार्यशालाओं और राज्य शिक्षा अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठकों से मुख्य रूप से समाने आया है। उन्होंने कहा, बड़ी संख्या में गैर-सरकारी संगठनों, शिक्षा विशेषज्ञ, राज्य सरकार के अधिकारी, मुख्यालय और कई शिक्षकों ने इन मीटिंग में भाग लिया था।  जावड़ेकर ने कहा कि यह तेजी से महसूस किया जा रहा है कि "बहुत सारी जानकारी शिक्षा नहीं है और छात्र सिर्फ एक डाटा बैंक नहीं हैं"। उन्होंने कहा कि शिक्षा का मुख्य उद्देश्य एक अच्छा इंसान बनाना है। हमारे दैनिक जीवन में मूल्य शिक्षा, जीवन कौशल, अनुभवात्मक शिक्षा और शारीरिक फिटनेस को विकसित करने के लिए समय की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बोझ को कम करने का विचार छात्रों को विभिन्न विषयों के मूल सिद्धांतों को सीखना है, उन्हें समग्र व्यक्तित्व विकास के लिए व्याख्या और विश्लेषण करने का तरीका बताएं। जावडेकर ने समझाया की मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एनसीईआरटी को वर्तमान पाठ्यक्रम का मूल्यांकन कर पाठयक्रम को तय किया जाए कि इसके साथ क्या किया जा सकता है और क्या रखा जा सकता है,  उन्होंने आगे बताया कि मंत्रालय ने इस सप्ताह अपनी वेबसाइट एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम को कम करने पर शिक्षा के क्षेत्र में शिक्षकों, माता-पिता, शैक्षिक विशेषज्ञों, छात्रों और सभी संबंधित हितधारकों से सुझाव के लिए अनुरोध किया जाएगा। मंत्री ने आश्वासन दिया कि दो महीने के बाद वे सुझावों की समीक्षा करेंगे और पाठ्यक्रम को कम करने के लिए निश्चित उपाय करेंगे।