• 5/25/2018

मुख्य खबर

Share this news on

उत्तर रेलवे ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस-2018 का किया आयोजन

Image

Preeti

/

3/9/2018 2:44:22 PM

नई दिल्ली, 8 मार्च। उत्तर रेलवे ने रेलवे बोर्ड के सहयोग से आज उत्तर रेलवे अधिकारी कल्ब, स्टेट एंट्री रोड़, नई दिल्ली में “सेवा आपूर्ति में चुनौतियां” विषय पर एक संगोठी का आयोजन किया गया । इस अवसर पर रेलवे बोर्ड के सदस्य यातायात, मोहम्मद जमशेद मुख्य अतिथि थे । रेलवे बोर्ड के वरिष्ठ रेल अधिकारी, उत्तर रेलवे की मुख्य प्रशासनिक अधिकारी, पीटीएस, आईआरसीए, सुनीरा बस्सी, उत्तर रेलवे की प्रमुख वाणिज्य प्रबंधक, मणी आनंद, उत्तर रेलवे की वरिष्ठ उप महाप्रबंधक चन्द्रलेखा मुखर्जी ने पैनल की चर्चाओं की नेतृत्व किया । उत्तर रेलवे और रेलवे के सार्वजनिक उपक्रमों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ-साथ फ्रंट लाइन और संरक्षा कोटियों में काम करने वाली महिला रेल कर्मचारियों ने सत्र के दौरान अपने अनुभव, चुनौतियां और कार्य स्थितियों के बारे में बताया। जमशेद ने फ्रंट लाइन और संरक्षा कोटियों में काम करने वाली उत्कृष्ठ महिला कर्मियों को पुरस्कृत किया । इसी प्रकार उत्तर रेलवे के रेल सुरक्षा बल ने बल में महिला कर्मचारियों की चुनौतियों पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया । दयाबस्ती, दिल्ली में आयोजित इस संगोष्ठी की अध्यक्षता, उत्तर रेलवे के मुख्य सुरक्षा आयुक्त, श्री संजय किशोर ने की । इस अवसर पर वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त और महिला सुरक्षा बल की कर्मचारी भी उपस्थित थी । अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर उत्तर रेलवे उन महिलाओं को नमन करती है जिन्होंने लाखों रेलयात्रियों के जीवन को प्रेरणा दी है । कार्य स्थल पर उनकी मजबूत स्थिति को विस्तार देकर अंतर्राष्टीय महिला दिवस-2018 के अवसर पर विशेष पहल रेलवे ने निम्नलिखित उपायों से अंतर्राष्टीय महिला दिवस-2018 के अवसर पर ऐसी विशेष महिलाओं के नेतृत्व-गुणों की झलक प्रस्तुत की है:- उत्तर रेलवे के फिरोजपुर मंडल पर रेलगाड़ी संख्या 11058 अमृतसर-छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलगाड़ी को अमृतसर से लुधियाना तक और 11057 छत्रपति शिवाजी टर्मिनस-अमृतसर एक्सप्रेस में लुधियाना से अमृतसर तक आज 8 मार्च, 2018 से महिला टिकट जाँच कर्मचारियों को तैनात किया जायेगा । उत्तर रेलवे के अम्बाला मंडल पर चंडीगढ़ शताब्दी रेलगाड़ी में आज 8 मार्च, 2018 से सप्ताह में 3 दिन महिला टिकट जाँच कर्मचारियों को तैनात किया जायेगा । उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल पर 14209/14210 लखनऊ-प्रयाग इंटरसिटी में आज 8 मार्च, 2018 से पूरी तरह से महिला कर्मचारियों को तैनात किया जायेगा । लखनऊ स्थित हज़रतगंज पीआरएस में अब से महिला कर्मचारियों तैनाती की जायेगी । यहां पर दो खिडकियां हैं जिनमें से एक आरक्षित टिकटों के लिए है जबकि दूसरी खिड़की से आरक्षित एवं अनारक्षित दोनों ही तरह की टिकटें जारी की जाती हैं । उत्तर रेलवे पर हजारों महिलाएं कार्यालयों में राजपत्रित अधिकारियों एवं कर्मचारियों के रूप में, अस्पतालों में डॉक्टरों, सर्जनों और अर्ध-चिकित्सा कर्मचारियों के रूप में, इंजीनियरों और जूनियर इंजीनियरों, बतौर स्टेशन मास्टर फ्रंट-लाइन कर्मचारियों के रूप में आरक्षण लिपिकों, चल टिकट परीक्षकों इत्यादि के रूप में कार्यरत हैं । अकेले दिल्ली मंडल पर 26 महिला लोको पायलट हैं । इसके अलावा दक्ष तकनीशियन, सहायक महिला कारीगर और अंतर्राष्ट्रीय स्तर की महिला खिलाड़ी उत्तर रेलवे के कार्य-बल में मौजूद हैं । रेलवे अपनी महिला कर्मचारियों की जरूरतों को लेकर बहुत संवेदनशील है और कार्य स्थलों को उनकी सुरक्षा और संरक्षा के लिए अनेक उपाय करती है । महिला कर्मचारियों को विभिन्न प्राधिकार प्राप्त हैं जिनके अंतर्गत उनको मातृत्व अवकाश, शिशु देख-भाल अवकाश और परिवार कल्याण को प्रोत्साहन देने के लिए विशेष अवकाश दिए जाते हैं । मंडलों में कार्यालय परिसरों के भीतर क्रैच चलाए जा रहे हैं ताकि महिला कर्मचारी अपने शिशुओं को देख-भाल भी कर सकें । उत्तर रेलवे महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए नियमित रूप से कार्यशालाओं और कार्यक्रमों का आयोजन करती है जिससे हज़ारों महिलाओं को लाभ पहुँचा है । प्रमुख स्टेशनों पर महिला यात्रियों को सेनेटरी नेपकिन उपलब्ध कराने के लिए उत्तर रेलवे ने नई दिल्ली, दिल्ली जं0 और हज़रत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशनों पर ऑटोमैटिक सेनेटरी नेपकिन वेंडिंग मशीनें लगाई गई हैं । अन्य रेलवे स्टेशनों पर भी ऐसी ही मशीनें लगाई जायेंगी ।