• 11/14/2019
Latest News

मुख्य खबर

Share this news on

भारतीय छात्रों के लिए हायर एजुकेशन में नीदरलैंड ने शुरु की कई स्कालरशिप

Image

Varsha

/

3/27/2018 11:13:56 PM

चंडीगढ़, 27 मार्च। नीदरलैंडस देश के प्रतिभाशाली छात्रों के लिए उच्च स्तर पढ़ाई के लिए एक प्रमुख देश बनता जा रहा है। पिछले कई सालों से भारतीय छात्रों की संख्या नीदरलैड क उच्च विश्वविद्यालयों में बढ़ती जा रही है। इसी बात के मद्देनजर नीदरलैंडस के राजदूत अलफोंसस स्टीलिंगा व सीनियर पालिसी आफिसर करणप्रीत कौर ने मंगलवार को पंजाब में चितकारा यूनिवर्सिटी कैंपस का दौरा किया और छात्रों को नीदरलैंड में उच्च शिक्षा के अवसरों के बारे में और हाल ही में लांच की गई स्कालरशिप योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। यह स्कालरशिप खासतौर पर भारतीय छात्रों के लिए लांच की गई हैं।   इस मौके पर संबोधित करते हुए अलफोंसस स्टीलिंगा ने बताया कि नीदरलैंडस में भारतीय छात्र इंजीनियरिंग या फिर बिजनेस कोर्स करने के लिए जाते हैं। लेकिन अब अकाउंटिंग व फाइनेंस, बायोसाइंस, इकानामिक्स, कानून, कृषि मेडिसन व आट्र्स भी लोकप्रिय होते जा रहे हैं।  इस समय नीदरलैंडस में 1600 से ज्यादा भारतीय छात्र हैं जो कि अलग अलग विषयों में उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।  उन्होंने बताया कि नीदरलैंडस में 2200 से ज्यादा कोर्स अंग्रेजी माध्यम में कराए जाते हैं जिनमें कृषि, इंजीनियरिंग, ह्यूमैंनिटीज, मैनेजमेंट व लाइफ साइसेंस आदि हैं जिनका खर्च भारतीय छात्रों के दायरे में आता हैं।   वल्ड इकानामिक फोरम 2017 के अनुसार नीदरलैंड दूनिया का तीसरा सबसे इनोवेटिव व चौथा सबसे कांपीटीटिव देश है।  हैप्पीनेस व सेफ्टी इंडेक्स में भी नीदरलैंड दुनिया के टाप 20 देशों में शामिल हैं।  टाइम्स हायर एजुकेशन व क्यूएस वल्र्ड रैकिंग 2017 में डच यूनिवर्सिटीज यूरोप की टाप 100 यूविर्सिटीज व दुनिया की टाप 200 यूनिवर्सिटीज में शामिल हैं।  भारतीय छात्रों के लिए डच सरकार ने कई स्कालरशिप योजनाओं को शुरु किया है। दुनिया के सबसे बडी मल्टी नेशनल कंपनियों जैसे फिलिप्स, शैल, डीएसएम, हैंनिकेन आदि का मुख्यायल नीदरलैंड में है और वे उन भारतीय छात्रों को प्राथमिकता देती हैं जिन्होंने डच यूनिवर्सिटीज से शिक्षा प्राप्त की हो। चितकारा यूनिवर्सिटी ने इस कार्यक्रम का आयोजन इसलिए किया था ताकि चितकारा के छात्रों के लिए नौकरी व पढ़ाई आदि के नए नए अवसरों के बारे में जानकारी हासिल हो सके।