• 5/25/2018

मुख्य खबर

Share this news on

पहले मुख्यमंत्री मामले दबाते थे, हमने सिंडीकेट तोडा: राजीव जैन

Rajan

/

4/7/2018 12:05:12 AM

चंडीगढ़ 6 अप्रैल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मीडिया विभाग प्रमुख राजीव जैन ने प्रदेश में नौकरियों में घोटाले के आरोप लगते थे तो पहली सरकारों के मुख्यमंत्री ऐसे मामलों को दबाते थे, जबकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ऐसी शिकायत पर कार्रवाई करने का साहस दिखाते हुए बडे सिंडीकेट को तोडने का काम किया है। उन्होंने कहा कि पुलिस जांच में साफ है कि आज तक एक भी पेपर लीक नहीं हुआ है।  शुक्रवार को कांगे्रसी नेता रणदीप सुरजेवाला द्वारा पंचकूला एचएसएससी मामले में भाजपा सरकार पर की गई टिप्पणी पर लपटवार करते हुए भाजपा प्रदेश मीडिया विभाग प्रमुख राजीव जैन ने कहा कि आज वो लोग नौकरियों में घोटाला होने की बात कह रहे हैं, जिनके कार्यकाल में एक अधिकारी की नियुक्ति मुख्यमंत्री आवास पर मंत्री, विधायक और उनके नेताओं द्वारा दी जाने वाली पर्चियां लेकर अयोग्य लोगों को नौकरी देने की लिस्ट बनाने की थी। भाजपा सरकार ने ऐसी परंपरा को खत्म करते हुए पेपर तैयार होने से लेकर इसके सम्पन्न होने की प्रक्रिया को सात चरणों में पुख्ता किया और हम प्रक्रिया को कैमरे की निगरानी में पूरा कराने की व्यवस्था शुरू की।  उन्होंने कहा कि आज मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पैसे लेकर नौकरी दिलवाने के लिए जो सिंडीकेट एचएसएससी पंचकूला में चलाने की शिकायत प्राप्त हुई थी। उसकी पूरी रैकी कराते हुए हर उस कडी को तोडने के निर्देश पुलिस को दिए, जो योग्य युवाओं के भविष्य को अंधकार मय बनाने की कोशिश कर रहे थे। इतना साहस मुख्यमंत्री मनोहर लाल के अतिरिक्त आज तक किसी ने नहीं दिखाया। भाजपा नेता ने कहा कि हरियाणा की जनता जानती है कि कांगे्रस शासन के दौरान किस प्रकार नौकरियां बिकती थी, और लोगों को अपनी जमीन, जेवर बेचने कर नौकरी हासिल करने के लिए मजबूर होना पडता था। उन्होंने कांगे्रसियों को आइना देखने की नसीहत दी और कहा कि खुद पुलिस जांच में यह सामने आया है कि अभी तक किसी परीक्षा में कोई गडबड नहीं हुई। उन्होंने एचएसएससी मामले में किसी भी प्रकार की गडबड को सिरे से खारिज कर दिया।