• 8/22/2018

मुख्य खबर

Share this news on

भलाई स्कीमों को लागू  करने के लिए सरकारें सार्थिक नीतियां अपनाएं : कैंथ

Image

Varsha

/

5/11/2018 8:55:43 PM

चंडीगढ़, 11 मई। नेशनल शेडूल कास्ट अलाइंस ने नरेंद्र मोदी की अगवाई वाली केंद्र सरकार पर दोष लगाया है कि वो जानबूझ कर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अत्यचार रोकू एक्ट 89 को आने वाली लोकसभा चुनाव में मुद्दा बना कर समाज को राजनैतिक मनोरथ के रूप में उपयोग करना चाहती है। अनुसूचित जाति की तर्जमानी करने वाले समाजिक राजनितिक संगठन नेशनल शेडूल कास्ट अलाइंस के प्रधान परमजीत सिंह कैंथ ने आज चंडीगढ़ प्रेस क्लब में पत्रकारों को सम्बोधन करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी की अगवाई वाली भाजपा सरकार अनुसूचित जातियों, समाज और समाज के बीच देश में बिगड़ रही स्थिति के लिए विशेष रूप में जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि भाजपा लम्बे समय से अनुसूचित जाति के लोगों का अपमान कर रही है और हालत नियंत्रण से बाहर हो रही है,  हिंसा, सामाजिक बायकाट, अपराध ,ध्रुवीकरण, भेदभाव इत्यादि पूरे भारत में अनुसूचित जाति के भाईचारे के लिए भाजपा सरकार की कार्यप्रणाली व् गलत नीतियों के नतीजे है। परमजीत सिंह कैंथ ने कहा कि पंजाब में पांच डिविशनल कमिश्नर हैं , उनके द्वारा क्रमवार 18 मई से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को यादपत्र देने का सिलसिला रोपड़ से शुरू किया जायेगा. उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से सही समय पर केस की पैरवी न करने के कारण आज समाज को नमोशी का सामना करना पड़ रहा है। केंद्रीय सरकार के कानून मंत्री और विभागीय अधिकारीयों की तरफ से मानयोग सुप्रीम कोर्ट में सही पक्ष रखने में असफल रहने पर कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद को इस्तीफ़ा देना चाहिए। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अगवाई वाली सरकार अनुसूचित जाति के हितों को सुरक्षित रखने में भी फेल साबित हो रही है। मोदी सरकार अनुसूचित जाति व् अनुसूचित जनजाति विरोधी है। ये सिर्फ यही जानते है कि दलित कार्ड कैसे खेलना है। अगले साल होने वाले चुनाव में भाजपा आरएसएस द्वारा महत्वपूर्ण मुद्दे को उभारने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि आरक्षण और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जन-जाति अत्याचार रोकू एक्ट जैसे गंभीर मुद्दों को एक साजिश के तहत उभार कर सामाजिक माहौल को खराब करने की कोशिशें की जा रही हैं जो राष्ट्र हित में नहीं हैं, नेशनल शेडूअल  कास्ट अलाइंस द्वारा भाजपा और आरएसएस कि ऐसी कोशिशों का सख्त विरोध व् निंदा करता है और उन्हें मुद्दों का मज़ाक बनाने की इज़ाज़त नहीं देगा। हमारे विरोध प्रदर्शन 18 शुरू होंगे और लगातार जारी रहेंगे। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार कि भलाई स्कीमों को सार्थक तरीके से लागु करने के लिए सही नीति बनाने की ज़रूरत है। पंजाब में स्टैंड-अप इंडिया , पोस्ट मेट्रिक स्कालरशिप और अन्य स्कीमों को लागू करने में भी सरकार असफल साबित हो रही है . श्री कैंथ ने कहा कि किसी भी पार्टी के पास सामाजिक सशक्तिकरण के लिए कोई भी प्रोग्राम नहीं है। मुख्य राजनैतिक पार्टियां जैसे कि आम आदमी पार्टी नेताओं ने अपनी पार्टिय से इस्तीफ़ा देकर नेशनल शेडूअलकास्ट अलाइंस के साथ हाथ मिलाया है। आम आदमी पार्टी के महासचिव पद से पलविंदर कौर हरिआऊ ने इस्तीफ़ा देने का सही फैसला किया है। उन्होंने बताया कि सियासी पार्टियां खासकर आम आदमी पार्टी के पास पिछड़े वर्ग के सामाजिक, आर्थिक और उत्थान के लिए कोई भी प्रोग्राम नहीं हैं। अनुसूचित जातियों की नाबालिग और नौजवान लड़कियों के साथ बलात्कार  और सामूहिक बलात्कार हो रहे हैं लेकिन राजनैतिक तौर पर इन दोषियों के खिलाफ कोई बोलने के तैयार नहीं है। सियासी बदलाव और सामाजिक, आर्थिक समानता के लिए आम आदमी पार्टी के पास बार बार कहने पर भी कोई सुनवाई नहीं हो रही। सामाजिक लहर को मज़बूत करने के लिए सामाजिक व् राजनैतिक संगठन परमजीत सिंह कि अगवाई वाली नेशनल शेडूल कास्ट अलाइंस में शामिल होकर अनुसूचित जातियों के हितों व् अपने रहबरों की विचारधरा के लिए काम करने का फैसला लिया है।  कैंथ ने आगे कहा कि पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगवाई वाली कांग्रेस सरकार अनुसूचित जातियों की लड़कियों के साथ हो रहे बलात्कारों के प्रति गंभीर नहीं है. इस मुद्दे को लेकर पंजाब पुलिस हेड क्वार्टर से लेकर मुख्य मंत्री निवास तक कैंडल मार्च किया जाएगा। उन्होंने कहा की संगठन का विस्तार करते हुए पंजाब में युवा विग, स्त्री विंग , विद्यार्थी विंग और अन्य विंगों के प्रधान नियुक्त करने की शुरुआत की जा रही है। आम आदमी पार्टी को छोड़ कर आई नेता पलविंदर कौर हरिआऊ को स्त्रियों के साथ अत्याचारों के विरुद्ध आवाज़ को बुलंद करने के लिए स्त्री विंग की प्रधान नियुक्त किया गया है जबकि रमिंदर सिंह महासचिव,गुरलाल सिंह को युवा विंग का पंजाब प्रधान नियुक्त किया है। कैंथ ने बताया की पंजाब और जिला स्तर की और नियुक्तियां शीघ्र ही की जाएँगी, नेशनल शेडूल कास्ट अलाइंस में शामिल होने वालों का पुरज़ोर स्वागत है, जल्दी ही और नेताओं को भी संगठन में शामिल किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सामाजिक लहर को मज़बूत करने के लिए सामाजिक व् राजनैतिक कार्यकर्ताओं की भर्ती भी शुरू की जा रही है।