• 5/25/2018

मुख्य खबर

Share this news on

सुव्यान-2018 : निफ्ट का वार्षिक डिजाइन कलेक्शन शो संपन्न

Preeti

/

5/17/2018 12:42:17 AM

चंडीगढ़, 16 मई। नार्दर्न इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टैक्नोलॉजी (निफ्ट) मोहाली के टैक्सटाइल डिजाइन विभाग के स्नातक छात्रों द्वारा आयोजित होम फर्निशिंग एवं परिधान उत्पादों का वार्षिक डिजाइन कलेक्शन शो- सुव्यान 2018, आज यहां संपन्न हुआ। फाइनल प्रजेंटेशन में छात्रों द्वारा संस्थान में प्राप्त शिक्षा की झलक देखने को मिली। प्रस्तुत उत्पादों में रंगों, सामग्रियों, फिनिश और तकनीकों के माध्यम से छात्रों ने फेब्रिक्स, होम फर्निशिंग उत्पादों, स्टोल्स और परिधानों के जरिये अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। पंजाब के इंडस्ट्रीज एवं कॉमर्स मिनिस्टर, सुंदर शाम अरोड़ा ने छात्रों की सफलता के लिए अपनी शुभकामनाएं और संदेश प्रेषित किया। राकेश कुमार वर्मा, आईएएस, इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स विभाग, पंजाब के प्रधान सचिव तथा निफ्ट के चेयरमैन ने वस्त्र डिजाइन विभाग के उत्तीर्ण होने वाले छात्रों को शुभकामनाएं दीं। डीपीएस खरबंदा, आईएएस, इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स, पंजाब के निदेशक एवं महानिदेशक, निफ्ट के अनुसार, छात्रों ने डिजाइन का एक रचनात्मक पहलू सामने रखा है जो निश्चित रूप से उद्योग में उनकी सफलता में योगदान देगा। सुव्यान-2018 में टैक्सटाइल डिजाइन विभाग के स्नातक छात्रों द्वारा 52 संग्रह प्रस्तुत किये गये। प्रत्येक छात्र ने 5 महीने तक औद्योगिक घरानों के साथ काम किया था, जिससे उनके व्यक्तिगत संग्रह और डिजाइन कार्य की प्रदर्शनी का विकास हुआ। छात्रों ने स्कार्फ, स्टोल्स, होम फर्निशिंग प्रोडक्ट्स जैसे बेड शीट्स, कुशन, डुवेट कवर इत्यादि विभिन्न उत्पादों का निर्माण किया। ये उद्योग और उनके खरीदारों की आवश्यकता और मांग के अनुसार बनाए गए थे। फैकल्टी सदस्यों- श्वेता शर्मा, दीप्ति शर्मा, इंदीप सुकरचकिया और नवनीत कौर ने छात्रों का मार्गदर्शन किया, ताकि उनके काम का बेहतर परिणाम प्राप्त हो सके। वस्त्र डिजाइनरों, विशेषज्ञों और कला समर्थकों की एक प्रतिष्ठित जूरी को संग्रह का मूल्यांकन करने के लिए आमंत्रित किया गया था। जूरी में मे-डिजाइन स्टूडियो के निदेशक योगेश वर्मा, सीनियर डिज़ाइनर इशा कौशल और नाहर फेब्रिक्स, लालड़ू के असिस्टेंट वाइस प्रेसीडेंट संजय कुलश्रेष्ठ शामिल थे। छात्रों ने नाहर फेब्रिक्स, वर्धमान, मे डिजाइन, बॉम्बे डाइंग, इंडी टेक्स, सोगानी फैशन, मीना बाजार, रागा ब्लॉक, शिंगोरा शाल्स, ट्राइडेंट, अरविंद मिल्स आदि उद्योगों में काम किया था। के एस बराड़, निदेशक, निफ्ट, ने कहा, ‘सुव्यान शो छात्रों को अपनी सर्वश्रेष्ठ रचनाएं प्रदर्शित करने का एक महत्वपूर्ण अवसर उपलब्ध कराता है। संग्रह रचनात्मक और सुंदर है।’ इंद्रजीत सिंह, रजिस्ट्रार, निफ्ट ने कहा, ‘सुव्यान सबसे अच्छी प्रदर्शनियों में से एक है और मुझे पूरा भरोसा है कि ये छात्र भारतीय वस्त्रों को विश्व मानचित्र पर पहुंचायेंगे।’ ‘भारतीय वस्त्र उद्योग में नई प्रतिभा को पोषित करने और बढ़ावा देने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को बनाए रखने के लिए, सुव्यान-2018 हमारे छात्रों के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ रचनाओं को शोकेस करने का एक मंच है,’ श्वेता शर्मा, कोर्स कोऑर्डिनेटर, वस्त्र डिजाइन विभाग ने कहा। टेक्सटाइल डिजाइन पुरस्कार : 1) सर्वश्रेष्ठ डिजाइन संग्रह- गौरव एवं साहिल 2) सबसे अभिनव संग्रह - खुशबू एवं शुभम 3) सबसे कमर्शियल संग्रह- अंजली कुमारी, प्रवीण व सुरभि कुमारी 4) विशेष जूरी पुरस्कार- अक्षत एवं राजविंदर 5) सर्वश्रेष्ठ डिजाइन पद्धति- भावना एवं हिमांशी कुछ संग्रह : पलक साहनी ने सोगानी फैशन, जयपुर में काम किया। उन्होंने पक्षियों को अपनी प्रेरणा के रूप में लेते हुए खूबसूरत परिधान और स्कार्फ संग्रह के रूप में अपना काम दिखाया। प्रवीण कुमार ने लुधियाना की शिंगोरा टेक्सटाइल लिमिटेड में कुछ समय बिताया था। उन्होंने मध्ययुगीन कला और वास्तुकला, डिस्को लाइट तथा फ्लॉवर क्राफ्ट के विषयों की शुरुआत की। भवना भारती ने मे डिजाइन स्टूडियो, गुरुग्राम में काम किया था। उन्होंने क्रेवेल कढ़ाई, तौलिया की सिलाई, मशीन कढ़ाई जैसी विभिन्न तकनीकों पर काम किया था। शुभम केश्री मुंबई की बॉम्बे डाइंग में काम कर चुके हैं। उन्होंने दो विषयों को अपनी थीम बनाया- मूड इंडिगो, जो टाई और डाई की परंपरागत तकनीक से प्रेरित था और बेसिक्स ऑनली। अक्षय जोशी ने पंजाब में लालड़ू स्थित नाहर इंडस्ट्रीज में काम किया था। उन्होंने फेब्रिक्स के विकास के लिए चार विषयों पर काम किया। प्रशांत सौरबा ने जिंदल वल्र्डवाइड लिमिटेड अहमदाबाद में काम किया था। उन्होंने फैंसी फ्लॉवर, पैस्ले पार्क और स्टील मैगनोलिया के तीन विषयों का निर्माण किया। सलोनी श्रीवास्तव ने रागा ब्लॉक प्रिंटिंग प्राइवेट लिमिटेड जयपुर में कुछ समय काम किया था।