• 10/19/2018

मुख्य खबर

Share this news on

रोजाना चौबीसों घंटे अबाध बिजली की हो रही आपूर्तिः चौहान

Image

Varsha

/

5/24/2018 11:39:00 PM

असन्ध/करनाल, 24 मई। हरियाणा के बिजली उपभोक्ताओं के लिए बिजली की बेहतरीन उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए शुरू की गई 'म्हारा गांव जगमग गांव योजना' के अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं। अब प्रदेश भर में सैकड़ों ऐसे फीडर हैं जहां रोजाना चौबीसों घंटे अबाध बिजली की आपूर्ति की जा रही है। इनमें पूरा पंचकुला जिला और करनाल जिले के भी 85 गांव शामिल है। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और निदेशक प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने जिले के गोल्ली गांव में ग्रामीणों से संवाद में इस आशय का दावा किया।उन्होंने कहा कि बीते रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा की गई घोषणा के बाद असन्ध विधानसभा क्षेत्र का मुनक ऐसा 85 वां गांव बन गया जहां 24 घंटे बिजली घरेलू उपभोक्ताओं को उपलब्ध कराई जा रही है।उन्होंने कहा कि जहां-जहां ग्रामीण उपभोक्ता इस योजना का लाभ लेने के लिए आगे बढ़कर सहयोग कर रहे हैं, उन गांवों को 'म्हारा गांव जगमग गांव योजना' के दायरे में लाया जा रहा है। भाजपा नेता प्रो. चौहान ने कहा कि गांवों में 24 घंटे बिजली सप्लाई का सपना पहली बार तत्कालीन मुख्यमंत्री चौधरी बंसीलाल के शासनकाल में भाजपा - हरियाणा विकास पार्टी गठबंधन की सरकार ने देखा था। क्योंकि वह सरकार अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाई थी, इस कारण मामला सिरे नहीं चढ़ पाया। उसके बाद बनी इंडियन नेशनल लोकदल की सरकार के मुखिया ओम प्रकाश चौटाला ने 31 दिसंबर 2004 तक हरियाणा के सब गांवों को बिजली कट से मुक्त करने की सैकड़ों बार घोषणा की। मगर वह भी अपने उस ऐलान को अमल में नहीं ला सके। इसके विपरीत बिजली का बिल ना भरने के अपनी ही पार्टी के आवाहन के चक्रव्यूह में फंस कर चौटाला को कंडेला में किसानों पर गोलियां चलवानी पड़ी। प्रो. वीरेन्द्र सिंह चौहान ने कहा कि ओम प्रकाश चौटाला के बाद सत्ता में आए कांग्रेस नेता और दो कार्यकाल मुख्यमंत्री  रहे भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने साढ़े तीन साल में 22 घंटे बिजली हर गांव को देने का सार्वजनिक ऐलान किया था। चौहान ने कहा कि यह कटु सत्य है कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी अपने उस वादे को पूरा नहीं कर पाए। साढ़े  9 साल राज करने के बाद भी यह कहने की स्थिति में नहीं थे कि वह 24 घंटे किसी गांव को बिजली दे पा रहे हैं। ग्रंथ अकादमी उपाध्यक्ष और ग्रामोदय अभियान के संयोजक प्रो चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में ग्रामोदय से भारत उदय के  सूत्र पर काम कर रही है। गांव जगमग हों, यह सरकार की प्राथमिकताओं में शुमार है। चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को  देश के उन 18000 से अधिक गांवों में बिजली पहुंचाने का श्रेय जाता है जहां 70 सालों के स्वतंत्र भारत में बिजली तो दूर खाली खंभे भी नहीं पहुंचे थे।  प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि 'म्हारा गांव जगमग गांव योजना' के अंतर्गत आए करनाल जिले के सभी 85 गांवों में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के खर्च पर बिजली की पुरानी तारें  बदलकर नई केबल  लगाई गई हैं। पुराने  व खराब मीटरों को उतार कर उनकी जगह नए इलेक्ट्रॉनिक मीटर बाहर बिजली के खंभों पर लगाए गए और इन गांवों के ट्रांसफार्मरों की क्षमता में भी वृद्धि की गई है। उन्होंने कहा कि उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के आंकड़ों के अनुसार इन  गांवों में लाइन लॉस 22 फ़ीसदी कम हो गए हैं। चौहान के अनुसार असंध विधानसभा क्षेत्र में ललैन , पंघाला , दनौली,  जलमाना, मरदानहेडी  और फैजपुर खेड़ा आदि गांव इस योजना का लाभ ले चुके हैं और आने वाले समय में गोली समेत  क्षेत्र के अधिकांश गांवों को इस योजना के दायरे में लाने का प्रयास किया जाएगा। इस अवसर पर ग्रामोदय अभियान के खंड संयोजक और भाजपा युवा मोर्चा नेता संदीप सैनी गोल्ली भी उनके साथ थे।