• 8/22/2018

मुख्य खबर

Share this news on

लागू हो रही हैं स्वामीनाथन की सिफारिशें: प्रो चौहान

Image

Manoj Sharma

/

6/7/2018 9:04:31 PM

करनाल, 7 जून। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश को चरणबद्ध ढंग से लागू कर अन्नदाता किसान का जीवन सुखमय बनाने के लिए संकल्पबद्ध है। खरीफ की अगली फसल से स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के अनुरूप लागत मूल्य से डेढ़ गुना समर्थन मूल्य किसान को मिल सकेगा। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और ग्रामोदय अभियान के संयोजक प्रोफ़ेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने स्थानीय गुरुद्वारा डेरा साहब में किसानों से बातचीत में यह टिप्पणी की। वह मोदी सरकार के 4 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में चलाए जा रहे राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के प्रधान से मुलाकात के लिए पहुंचे थे। इससे पहले उन्होंने पार्टी के वरिष्ठ नेता डॉ बूटी राम, सुरेश गोयल जलमना और मंडल अध्यक्ष सुखदेव सिंह सर्राफ के साथ गुरुद्वारा डेरा साहब में माथा टेका। प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार का 4 वर्ष का कार्यकाल उपलब्धियों से परिपूर्ण रहा है। सरकार ने घोषित समय सीमा से पहले देश के उन 18000 से अधिक गांवों में बिजली पहुंचाने का संकल्प पूरा किया है जो आजादी के 70 साल बाद भी बिजली से वंचित थे। करीब 12 करोड़ नौजवान नवयुवतियों को स्वरोजगार के लिए मुद्रा योजना के तहत ऋण उपलब्ध कराया गया है। इस अवधि में साढ़े तीन करोड़ से ज्यादा गरीब घरों में निशुल्क एलपीजी कनेक्शन पहुंचे हैं। सात करोड़ से ज्यादा शौचालयों के निर्माण से गरीब आदमी के जीवन में स्वछता का संचार हुआ है। किसानों के सवालों का जवाब देते हुए वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि जिस कांग्रेस के नेता स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट पर कई साल तक कुंडली मारे बैठे रहे, उन्हें आज तक यह मालूम नहीं कि आयोग की सिफारिशें वास्तव में क्या थीं। चौहान ने कहा कि स्वयं डॉक्टर स्वामीनाथन ने इस बात को स्वीकार किया है कि उनकी सिफारिशों पर नरेंद्र मोदी सरकार काम कर रही है। इस संवाद के दौरान सरकार में सिख समाज को और अधिक हिस्सेदारी दिए जाने और किसानों के कल्याण के लिए प्रभावी काम करने की मांग की गई। डॉ. बूटी राम ने बताया कि नरेंद्र मोदी सरकार ने सब्जी उगाने वाले किसानों के लिए भावांतर भरपाई योजना भी आरंभ की है। इस अवसर पर गुरुद्वारा डेरा साहिब के प्रधान रुपिंदर सिंह, सेक्रेटरी हरजिंदर सिंह, तरलोक सिंह, कबूलपुर खेड़ा सरपंच दर्शन सिंह, कमेटी सदस्य तारा सिंह, हरदीप सिंह, हरभजन सिंह,जसबीर सिंह, मंडल अध्यक्ष सुखदेव सिंह सराफ, डॉ. बूटी राम, संदीप गोल्ली आदि मौजूद रहे ।