• 9/26/2018

मुख्य खबर

Share this news on

लोक निर्माण विभाग और पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड सडक़ों के निर्माण और मुरम्मत में मिलकर कार्य करेंगे: विजय इंद्र सिंगला

/

6/30/2018 1:03:23 AM

चंडीगढ़,29 जून। मल्टी लेअरड प्लास्टिकस के खतरे की रोकथाम की तरफ एक अहम कदम उठाते हुए लोक निर्माण विभाग और पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने सडक़ों के निर्माण में एम.एल.पी. का प्रयोग करने संबंधी सांझे तौर पर यत्न करने का फ़ैसला किया है। शोध के मंतव्य से लुधियाना में इकोलाहा गाँव में से गुजऱती सडक़ पर एम.एल.पी. की कोलतार के साथ प्रयोग करके एक छोटे हिस्से का निर्माण किया गया था। थापर यूनिवर्सिटी, पटियाला के सिविल इंजीनियरिंग विभाग द्वारा इस साइट में टैस्ट किया गया है और इसको हरी झंडी दी। इस लिए सडक़ों की मज़बूती और टिकाऊपन के मामले में एम.एल.पी. के सामुहिक प्रभाव का जायज़ा लेने के लिए सडक़ों के कुछ पायलट स्टरैच इसी ढंग से तैयार किये जाएंगे। लोक निर्माण मंत्री, पंजाब श्री विजय इंद्र सिंगला ने विभाग के अधिकारियों और पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन से बातचीत के बाद जानकारी देते हुए बताया कि इससे केस के अध्ययन का नतीजा औपचारिक स्वीकृति और सडक़ों, फुटपाथों के निर्माण और मुरम्मत में एम.एल.पी. की अन्य सामग्री के साथ प्रयोग संबंधी दिशा निर्देश हासिल करने के लिए हाईवे रिर्सच बोर्ड, आई.आर.सी. को आगे भेज दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि सडक़ों और फुटपाथों के निर्माण के लिए मल्टी लेअरड प्लास्टिक का प्रयोग से जहाँ न सिफऱ् व्यर्थ के उचित प्रयोग का रास्ता निकलेगा, बल्कि वातावरण की विनाश की समस्या से भी छुटकारा मिलेगा। पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन कम मिशन डायरैक्टर तंदरुस्त पंजाब श्री काहन सिंह पन्नू ने कहा कि तंदरुस्त पंजाब मिशन के अंतर्गत पर्यावरण प्रदूषण से निपटने के लिए ठोस प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज कल बाज़ारों में चिप्स, स्नैक्स और माउथ फरैशनर्स की पैकिंग के लिए इस्तेमाल की जाने वाली मल्टी लेअरड प्लास्टिक के चमकदार लिफ़ाफ़े न ही गलते हैं और न ही इनका कोई हल है। एम.एल.पी. प्रत्येक वर्ष हज़ारों टन के हिसाब से इक_ा हो रहा है जो कि इकोसिस्टम के लिए एक बड़ा ख़तरा है क्योंकि इसका फिर प्रयोग संभव नहीं। उन्होंने आगे कहा कि सडक़ों के निर्माण में एम.एल.पी. के प्रयोग संबंधी लोक निर्माण विभाग और पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की संयुक्त कोशिशों की सफलता ही एक आशा की किरण है और साथ ही कहा कि यह छोटा कदम आने वाले दिनों में काफ़ी अहम सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि प्रोजैकट अभी शुरुआती स्तर पर है परन्तु लोक निर्माण विभाग, पंजाब की सक्रिय सहायता से यह जल्द ही रफ़्तार पकड़ लेगा। श्री पन्नू ने कहा कि नतीजों को संबंधित अथॉरिटी के साथ सांझा किया जायेगा और एक सकारात्मक नतीजे की उम्मीद है।