• 9/26/2018

मुख्य खबर

Share this news on

लापरवाह व भ्रष्ट सरकारी कर्मी नपेंगे : प्रो.चौहान

Image

Rohit Aswal

/

6/30/2018 8:22:22 PM

जुंडला/करनाल, 30 जून। सरकारी कर्मचारी और अधिकारी जनता के सेवक हैं। जनता के प्रति अपने दायित्व के निर्वहन और ड्यूटी में कोताही बरतने वाले कर्मियों और अधिकारियों की जवाबदेही तय कर उन्हें सुधरने के लिए बाध्य किया जाएगा। हरियाणा ग्रंथ अकादमी के उपाध्यक्ष और निदेशक प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह चौहान ने क्षेत्र के कतलाहेड़ी गांव में आयोजित बिजली सभा में ग्राम वासियों को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए यह बात कही। 'म्हारा गांव जगमग गांव' योजना के तहत कतलाहेड़ी गांव के शामिल होने के बाद आज की बिजली सभा ग्रामवासियों की समस्याएं सुनने और उन्हें जगमग योजना के प्रावधानों से अवगत कराने के लिए आयोजित की गई थी। सभा में उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों ने मौके पर ही ग्रामवासियों की समस्याएं सुनकर उनका निराकरण करने का प्रयास किया। बिजली सभा में ग्राम वासियों ने बताया कि गांव में खराब ट्रांसफॉर्मरों को बदलने या उन्हें ठीक करने की प्रक्रिया में निगम के कर्मचारी उपभोक्ताओं से पैसे मांगते हैं। इस संबंध में एक लाइनमैन से भरी पंचायत में पूछताछ की गई तो उसने सामान गांववासियों से मांगने की बात स्वीकार की। इस पर कार्यक्रम में मौजूद कार्यकारी अभियंता ने लाइनमैन को तत्काल निलंबित करने के आदेश दिए। इसी प्रकार एक कनिष्ठ अभियंता द्वारा भी लोगों से सामान मंगाने का मामला प्रकाश में आया। बिजली पंचायत में ग्रामवासियों की मांग पर कार्यकारी अभियंता ने दोनों ही कर्मचारियों के खिलाफ नियमानुसार कारवाई करने और 7 दिन के भीतर पैसे वसूलने के मामले की तहकीकात पूरी करने का आश्वासन दिया। प्रोफेसर वीरेंद्र चौहान ने कहा कि उपभोक्ताओं से पैसे वसूलने वाले कर्मचारियों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए उपभोक्ताओं को भी सरकार के साथ सहयोग करना होगा। ग्रंथ अकादमी उपाध्यक्ष प्रो. वीरेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि राज्य के 2300 से अधिक गांव इस समय योजना के अंतर्गत 24 घंटे बिजली प्राप्त कर रहे हैं। राज्य की मनोहर लाल सरकार के अस्तित्व में आने से पहले और जगमग योजना प्रारंभ होने से पूर्व राज्य में ग्रामीण अंचल में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। उन्होंने कहा कि एक तिहाई हरियाणा के गांव बिजली के बिल समय पर भरने, बिजली की चोरी रोकने और किफायती ढंग से बिजली का उपयोग करने के कारण जगमग हो उठे हैं। सरकार राज्य के हर गांव को जगमग करने का लक्ष्य रखकर काम कर रही है। उन्होंने बताया कि पंचकूला, अंबाला, सिरसा, गुरुग्राम और फरीदाबाद जिलों के प्रत्येक गांव में 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है। करनाल जिले के 85 से अधिक गांव इस सुविधा से संपन्न हो चुके हैं और इनमें असंध विधानसभा क्षेत्र के भी लगभग एक दर्जन गांव शामिल है। ग्रामवासियों को संबोधित करते हुए महकमे के सेवानिवृत्त चीफ इंजीनियर एच पी शर्मा ने जगमग योजना के लाभ गिनवाए। उन्होंने ग्रामवासियों का आवाहन किया कि वे बिजली का इस्तेमाल किफायती ढंग से करें। उन्होंने बताया कि पीले बल्ब के स्थान पर एलईडी बल्ब के उपयोग से बिजली की भारी बचत होती है और एक पीला बल्ब 11 एलईडी बल्ब के बराबर बिजली खाता है। असंध डिवीजन के कार्यकारी अभियंता गगन पांडे ने इस अवसर पर ग्राम वासियों को बताया कि जगमग योजना के तहत गांव के सभी मीटर घरों से बाहर लगाए जाने हैं। सरकार मीटर बाहर स्थापित करने का और गांव की सभी लाइने बदलने का खर्च स्वयं वहन करेगी। उन्होंने कहा कि गुल्लरपुर फीडर को जगमग योजना के तहत 24 घंटे बिजली देने की दिशा में जो कार्य होना है उसे प्योंत और गुल्लरपुर गांव में पूरा कर लिया गया है। कतलाहेड़ी गांव में शेष कार्य को 15 दिन में पूरा किया जा सकता है। उसके बाद ही फीडर में बिजली की आपूर्ति चरणबद्ध ढंग से 24 घंटे तक ले जाई जाएगी। इस अवसर पर जुंडला महामंत्री यादवेन्द्र आहूजा, कतलाहेड़ी के पंच जोगिन्दर सिंह, कार्यकारी अभियंता गगन पांडे, एसडीओ ओम प्रकाश, गोंदर के सरपंच बिट्टू राणा, जयमल फौजी, महिंद्र सिंह, प्रेम सिंह, गुरदयाल सिंह, बाबू राम, राजकुमार, बलवीर सिंह, रतीराम, मनीष काद्यान, संदीप, सोनू, अंकित, मंदीप, महिपाल, राम क्रिशन आदि मौजूद रहे।