• 10/19/2018

मुख्य खबर

Share this news on

किरण खेर यह बताये की संसद में गाँवो के मुद्दे पर कितने सवाल उठाए ?

Varsha

/

8/9/2018 9:43:50 PM

चण्डीगढ़, 9 अगस्त। चण्डीगढ़ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप छाबड़ा, ग्रामीण कांग्रेस के अध्यक्ष व गाँव दडुआ के सरपंच गुरप्रीत सिंह (हैप्पी), रायपुर खुर्द के सरपंच लक्ष्मण सिंह, खुड्डा लाहौरा के सरपंच राकेश शर्मा, बहलाना की सरपंच मोहिंदर कौर, किशनगढ़ की सरपंच गुरविंदर कौर, मौलीजागरां के सरपंच हरिहर ठाकुर व कांग्रेस के सीनियर नेताओं भूपिंदर बड़हेड़ी, जीत सिंह बेहलाना, केसर सिंह, पूर्व सरपंच करतार ठाकुर, पूर्व सरपंच मनमोहन सिंह, नंद सिंह कजहेड़ी, रामकरन, कुलदीप सिंह, दविंदर लुबाना, गुरदीप सिंह ईटावा, लखविंदर पाल, मलकीत सिंह, धनास, नरेश गोल्डी, खुड्डा अलीशेर, अनिल कुमार, रायपुर खुर्द, जयचंद साबका सरपंच, पलसौरा, तीनों रूरल ब्लॉक प्रेसिजेंट मोहनलाल, राजिंदर कुमार, सरनराम, गुरचरण दास काला, हल्लोमाजरा आदि नेताओं ने स्थानीय सांसद किरण खेर द्वारा ट्विटर पर पर लाल डोरा के बाहर बने मकानों के बारे में उस बयान की निंदा की है जिसमें उन्होंने कहा है कि पवन बंसल के सांसद रहते हुए यह मकान बने थे व बंसल ने इनके लिए कुछ भी नहीं किया। किरण खेर यह बताये की संसद में गाँवो के मुद्दे पर कितने सवाल उठाए । किरण खेर ढोंग बन्द कर लोगो के काम करवाये। झूठ और ड्रामेबाज़ी की राजनीति न करे। इन नेताओं ने यहां जारी एक संयुक्त ब्यान में कहा कि बंसल के समय में कोई भी मकान नहीं टूटा। किरण खेर के बयान की सारे नेता निंदा करते हैं। इन नेताओं ने कहा कि सांसद मैडम ने साढ़े चार साल में गांवों के लिए कुछ भी नहीं किया और न ही इन मकानों को रेगुलर कराने के बारे में कुछ किया है। आने वाले 2019 के चुनावों में गांव के लोग अपना मन बना चुके हैं कि किरण खेर का बोरिया बिस्तर गोल करके उन्हें मुंबई के लिए रवाना करेंगे। उन्होंने कहा कि खुड्डा अली शेर में प्रशासन द्वारा लोगों के मकान तोडऩे के दौरान महिलाओं और बुजुर्गों के ऊपर जिस तरह पुलिस ने लाठी चार्ज किया है, सांसद साहिबा ने इस पर एक बयान तक नहीं दिया। इस बात को लेकर भी गांववासियों में काफी रोष है।