• 12/4/2020
ad
Latest News

मुख्य खबर

Share this news on

पंजाबियों के लिये ‘एक्सटेंडिड वीकएंड स्थल’ के रुप में उभर रहा है जम्मू कश्मीर

Image

Apurv Kumar

/

11/21/2020 8:24:18 PM

चंडीगढ़, 21 नवंबर । कोरोना से मुकाबले की तैयार चुके लोग लॉकडाऊन के बाद अब सैर सपाटे का मन बना रहें है जिसका अनुमान आज सेक्टर 28 स्थित हिमाचल भवन में आयोजित किये जा रहे तीन दिवसीय इंडिया ट्रेवल मार्ट के दूसरे दिन दिखने का मिला । लोगो का हुजूम आज सुबह से ही देखने को मिला जिसमें वे अपने परिवारों के साथ बजट अनुसार हाॅलीडे प्लान करते दिखें। जहां एक ओर कई ट्रेवल ऐजेसियां डोमेस्टिक सर्कट में माउंटेन ट्रेकिंग, डेजर्ट सफारी, जंगल ऐडवेंचर, बीच हाॅलीडे से लेकर नार्थ ईस्ट के विकल्प प्रदान कर रही है वहीं दूसरी ओर कई स्टेट टूरिज्म बोर्ड भी अपने प्रदेश की पर्यटन की संभावनायें ट्राईसिटी वासियों को परोस रहे हैं। मार्ट में भाग ले रही जम्मू एंड कश्मीर टूरिज्म बड़े पैमाने में प्रदेश की खूबसूरती को देश भर में पहुंचा रहा है। विभाग की कटड़ा स्थित सहायक निदेशिका अंबिका बाली ने बताया अपर नार्थ इंडियंस के लिये बेहतर हाईवे और अच्छी कुनैक्टिड रेलवे के चलते एक ‘एक्सटेंडिड वीकएंड’ स्थल बनता जा रहा है। कोविड से उबरने के बाद प्रदेश में आने वाले पर्यटकों में खासा उछाल आया है। बाली ने बताया कि प्रदेश में डल नौका विहार के अलावा ट्रेकिंग, हैरिटेज टूरिज्म, धार्मिक टूरिज्म, एंगलिंग (मछली पकड़ना), सर्दियों में अप्रवासी पछियों के आगमन के चलते बर्ड वाचिंग आदि कारणों से लोगों की पसंद बनता जा रहा है । कश्मीर टूरिज्स में श्रीनगर स्थित सचिव नुजहत गुल ने बताया कि स्टेट में गोल्फ टूरिज्म को लेकर पर्यटक काफी उत्साहित है। उन्होंनें बताया कि इंग्लैंड के बाद विश्व का सबसे पुराना गोल्फ कोर्स श्रीनगर स्थित रायल स्प्रिंग्स गोल्फ कोर्स है जो कि अंग्रेजों का पंसदीदा टाईम पास था। अब विभाग ने श्रीनगर के अलावा गुलमर्ग, पहलगाम, जम्मू और पटनीटाप में गोल्फ का बढ़ावा देकर विशेष पैकेज तैयार किये हैं। गुजरात टूरिजम के सहायक निदेशक संदीप कुमार ने बताया कि सर्दियों में गुजरात घूमने के लिये सबसे अनुकूल हैं। उन्होंनें वार्षिक आयोजन ‘रण उत्सव’ पर जोर देते हुये बताया कि चार माह के लिये स्थापित अस्थाई ‘टेंट सिटी’ में बसाये जाने वाले शहर का अनुभव अस्मरणीय है। उन्होंनें बताया कि हर वर्ष जनवरी में आयोजित होने वाले उत्तरायन के दौरान इंटरनैश्नल काईट फेस्टिवल में देश विदेश के पतंगबाज जुटते हैं। धार्मिक दृष्टिकोण से यहां न केवल हिन्दुओं के धाम है बल्कि जैन, मुस्लिमों और पारसियों के भी कई असंख्य धाम हैं। वन्य पर्यटन के मामले में गुजरात हमेशा से धनी रहा जिसमें ऐश्यिेटिक लाॅयन की प्रजाति यहां गिर के जंगलों में स्पष्ट दिखाई देती है। पंजाब टूरिज्म में सीनियर मार्केटिंग मैनेजर अल्का कपूर ने बताया कि उनका विभाग का रुख ग्रामीण पर्यटन को बहुत बढ़ावा दे रहा है जिसके अंर्तगत ऐश्यिन डिवलमेंट बैंक की मदद से कुछ सैल्फ हैल्प ग्रुप्स को जोड़ कर फुलकारी व अन्य लुप्त हो रही ग्रामीण रंगत में जान फूंकने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंनें बताया कि प्रदेश में पटियाला, अमृतसर, मोहाली, होशियारपुर, गुरदासपुर और भटिंडा में फार्म टूरिज्म को बढावा देने की दिशा में करीब 55 स्टे को रजिस्टर किया जा चुका है।